एनिमेशन स्टूडियो में लगायी आग, 24 जिंदा जले

fire in an animation studio in japan, 24 dead

टोक्यो : जापान के क्योटो शहर में गुरुवार सुबह एक एनिमेशन स्टूडियो में आग लगने से 24 लोग जिंदा जल गए जबकि 35 से अधिक बुरी तरह झुलस गए। इनमें 10 की हालत गंभीर है। माना जा रहा है कि आतंकी हमले की तरह यह आगजनी हमला हो सकता है। पुलिस ने भी माना है कि ऐसा लग रहा है कि जानबूझकर आग लगाई गई, लेकिन अभी इसके पीछे के मकसद के बारे में कोई सूचना नहीं मिली है। दमकल विभाग ने बताया कि घटना के वक्त इमारत में 70 लोग मौजूद थे।

आग लगाने वाला भी झुलसा

क्योटो के प्रांतीय पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि एक अनजान शख्स ने तरल पदार्थ छिड़ककर स्टूडियों में आग लगा दी और खुद आग में झुलस गया। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है और इस बात का पता लगाने में जुटी है कि उसने आग क्यों लगाई। अधिकारियों ने बताया कि मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। बचाव अभियान जारी है और अंदर फंसे पीड़ितों को बाहर निकालने की कोशिश कर रहे हैं।

18 लोगों से नहीं हो पाया है संपर्क

दमकल विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि भूतल और पहली मंजिल पर 12 लोग की मौत दम घुटने से हुई हैं। इमारत में भीषण आग की सूचना मिलते ही दमकल की 35 गाड़ियों और अन्य अग्निशमन वाहनों को घटना स्थल पर भेजा दिया गया हैं। पर अभी तक 18 लोगों से संपर्क नहीं हो पाया हैं। बता दें कि घटना में 35 लोग घायल हो गए जिनमें से 10 की हालत गंभीर है।

आग लगाने पर हो सकती है फांसी

बता दें कि जापान में आगजनी को गंभीर अपराध माना जाता है और इसके दोषियों को मौत तक की सजा भी दी जाती है। इधर, स्‍थानीय न्यूज एजेंसी एवं जापानी चैनल एनएचके ने दावा किया है कि एक अज्ञात शख्स ने इमारत में पेट्रोल फैलाने के बाद उसमें आग लगा दी। पर बुरी तरह से आग में झुलसने के बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

naxalite search operation

दुमका में तीन केन बम, कारतूस व अन्य विस्फोटक बरामद

दुमकाः जिले के गोपीकांदर थाना क्षेत्र में महुआगढ़ी पहाड़ के जंगल से सुरक्षाबलों ने पांच किलोग्राम विस्फोटक वाले तीन केन बम, काफी संख्या में कारतूस आगे पढ़ें »

pay

जम्‍मू-कश्मीर और लद्दाख में सातवां वेतन आयोग लागू, 4.5 लाख कर्मचारियों को मिलेगा लाभ

नई दिल्ली : अनुच्छेद 370 हटने के बाद केंद्र शासित प्रदेशों लद्दाख और जम्मू-कश्‍मीर में काम करने वाले सरकारी कर्मचारियों को सरकार ने दिवाली का आगे पढ़ें »

ऊपर