महाभियोग जांच में डेमोक्रेट को मिली बड़ी जीत,ट्रंप की मुश्‍किलें बढ़ी

Donald trump

वाशिंगटन : अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के ऊपर राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेट पार्टी के उम्मीदवार बाइडेन और उनके बेटे के खिलाफ भ्रष्टाचार के दावों की जांच करवाने के आरोप है। ट्रंप ने कहा था कि महाभियोग की जांच में सहायता करने के लिए राजी हैं पर उन्होंने इसके लिए सही नियमों की शर्त्त रखी थी। उन्होंने कहा था कि वह डेमोक्रेट्स की अगुवाई में चल रहे महाभियोग की जांच में तभी भाग लेंगे जब उसे निष्पक्षता और नियमसंगत तरीके से किया जाएगा। अमेरिकी अदालत ने न्याय विभाग को रूस माामले में विशेष वकील रॉबर्ट मूलर द्वारा की गई जांच से जुड़ी रहस्यमय जानकारी सदन को देने का निर्देश दिया है। कोर्ट के इस फैसले के बाद ट्रंप की मुश्‍किलें बढ़ती नजर आ रही है। इसे महाभियोग जांच में डेमोक्रेट्स की बड़ी जीत मानी जा रही है क्योंकि वह इसे जांच की प्रक्रिया में इस्तेमाल करने के लिए पाना चाहते थे। अदालत के मुख्य न्यायाधीश बेरिल हॉवेल ने न्याय विभाग को 30 अक्टूबर तक का समय दिया है जिसके तहत उन्हें सारी जानकारियां उपलब्‍ध करानी हैं। जानकारी के मुताबिक विभाग फैसले की दोबारा जांच कर रहा है।

मूलर से मिली जानकारी ट्रंप के खिलाफ उपलब्‍ध करा सकती हैं सबूत

जानकारी के मुताबिक डेमोक्रेट्स के ऐसे सबूत हाथ लगे हैं जिसमें दावा किया गया है कि ट्रंप ने बाइडेन और दूसरे डेमोक्रेट नेताओं के खिलाफ जांच के लिए यूक्रेन से करार करने की कोशिश की थी। मूलर से मिली जानकारी साल 2016 के चुनावों में ट्रंप के खिलाफ नए सबूत उपलब्‍ध करा सकते है। ऐसा माना जा रहा है कि इससे महाभियोग का मुद्दा और ज्यादा मजबूत हो जाएगा। इन जानकारियों वाले दस्तावेजों का एकमात्रा हिस्सा है जो संसदों तक नहीं पहुंचे हैं। व्हाइट हाउस और रिपब्लिकन समर्थकों के तर्क के मुताबिक औपचारिक वोट के बिना महाभियोग गैरकानूनी है और वहीं दूसरी ओर न्याय विभाग के अनुसार महाभियोग “न्यायिक कार्यवाही” के योग्य नहीं है। यहां तक की न्यायाधीश ने न्याय विभाग के इस तर्क को भी खारिज कर दिया।

जो बाइडेन ने कहा- ट्रंप लोकतंत्र के लिए खतरा

अमेरिका के पूर्व उप राष्ट्रपति तथा डेमोक्रेटिक पार्टी से राष्ट्रपति पद के प्रमुख दावेदार जो बाइडेन ने कहा है कि ट्रंप लोकतंत्र के लिए खतरा है। बाइडेन ने ट्रंप के खिलाफ महाभियोग चलाने की मांग करते हुए कहा है कि ट्रंंप ने अपने पद की गरिमा का उल्लंघन किया है। बाइडेन ने कहा कि अमेरिका ने कभी अपने इतिहास में किसी राष्ट्रपति का ऐसा अकल्पनीय व्यवहार नहीं देखा होगा। ट्रंप ने अपने शब्दाें से और न्याय को रोकने जैसी कई गतिविधियों से खुद को दोषी दिखाया है। उन्होंने कहा कि अमेरिका की जनता यह स्पष्ट तरीके से देख सकती है कि ट्रंप ने राष्ट्र को धोखा दिया है और महाभियोग लायक कर्म किए हैं। संविधान, लोकतंत्र, बुनियादी एकता की रक्षा के लिए उन पर महाभियोग की प्रक्रिया चलाने की अपील की है। ट्रंप ने इसके जवाब में बाइडेन को भ्रष्टाचारी बताया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

प्रवासी मजदूरों पर सुप्रीम कोर्ट का राज्य सरकारों को बड़ा आदेश

नयी दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि मजदूरों से ट्रेन/बस का किराया न लिया जाए। जो जहां फंसा है वहां की सरकार भोजन दे। आगे पढ़ें »

भारत से अगले वर्ष टी-20 विश्व कप मेजबानी छिनने का कोई खतरा नहीं: बीसीसीआई

नयी दिल्ली : भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) और अंतराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) में टैक्स छूट विवाद के बीच बीसीसीआई ने कहा है कि भारत आगे पढ़ें »

ऊपर