चांद की सतह पर उतरा चीन का पहला मानवरहित स्पेसक्राफ्ट

बीजिंग : चीन का मानवरहित अंतरिक्षयान चंद्रमा की सतह पर उतर गया है।  चीन का यह अंतरिक्ष यान चंद्रमा से चट्टान के नमूने पृथ्वी पर लाने के उद्देश्य से चंद्रमा की सतह पर उतरा है। चीन की सरकार ने यह जानकारी दी। वर्ष 1970 के बाद से चंद्रमा से नमूने एकत्र करने का यह पहला अभियान है। चीन के राष्ट्रीय अंतरिक्ष प्रशासन की ओर से कहा गया कि ‘चांगए-5’ अंतरिक्ष यान, निर्धारित स्थान पर रात 11 बजे (जीएमटी अपराह्न 3 बजे) के कुछ देर बाद सफलतापूर्वक उतरा।
दो किलोग्राम नमूने लेकर आएगा
मालूम हो कि लैंडर को 24 नवंबर को हैनान द्वीप से प्रक्षेपित किया गया था। चंद्रमा पर भेजा गया लैंडर दो दिन में सतह से दो किलोग्राम चट्टान और धूल के नमूने एकत्र करेगा। इसके बाद नमूनों को कक्षा में भेजा जाएगा और वहां से इन नमूनों को ‘रिटर्न कैप्सूल’ के जरिए पृथ्वी पर लाया जाएगा। योजना के अनुसार, महीने के मध्य तक अंतरिक्ष यान मंगोलिया में उतरेगा। यदि यह अभियान सफल रहता है तो 1970 के बाद से चंद्रमा से चट्टान के ताजा नमूने एकत्र करने वाला यह पहला सफल अभियान होगा।
पूरी तरह तकनीक पर आधारित है यह अभियान : पे झॉयू
इससे पहले अमेरिका और सोवियत संघ के अभियान में अंतरिक्ष यात्री भेजे गए थे, लेकिन चीन का अ‌भियान कई तरह से चुनौती भरा है। चीन के राष्ट्रीय अंतरिक्ष प्रशासन के उप निदेशक पे झॉयू कहते हैं कि हमारा अभियान थोड़ा जटिल है, क्योंकि इसमें कोई इंसान शामिल नहीं है। यह पूरी तरह से तकनीक पर आधारित है। हमारा अंतरिक्षयान रोबोटिक है, जो अंतरिक्ष से नमूने लाएगा। यह अभियान चीन में विज्ञान और तकनीक के विकास को आगे बढ़ाएगा। यह देश में अंतरिक्ष से जुड़ी नई चीजों को सामने लाने में मदद करेगा।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

‘जय श्री राम’ का नारा कहीं जानबूझ कर तो नहीं लगाया गया !

आगामी विस चुनाव पर पड़ सकता है खासा असर भाजपा के लिए बना चुनावी हथकंडा कोलकाता : ऐसा पहली बार नहीं है। पहले भी जय श्रीराम सुनकर आगे पढ़ें »

रविवार को करे ये काम, सफलता होगी साथ

नई दिल्ली : ज्योतिष के मानें तो रविवार को सुबह-सुबह इस उपाय को करने से पूरे सप्ताह सफलता अपके कदम चूमेगी। ऐसी मान्यता है कि आगे पढ़ें »

ऊपर