म्‍यांमार की सीमा पर चीन बना रहा 2000 किमी लंबी दीवार

बीजिंग : चीन दक्षिण एशिया में अपना प्रभुत्व स्थापित करने की हर मुमकिन कोशिश में जुटा है। चीन की आक्रामक गतिविधियों से न केवल विश्व के शक्तिशाली देश खफा हैं पर उसके पड़ोसी भी काफी निराश हैं। अपनी क्षेत्रीय तानाशाही का प्रदर्शन करते हुए चीन ने कंटीले तारों की मदद से म्‍यांमार की सीमा पर 2000 किलोमीटर लंबी दीवार के निर्माण की शुरुआत कर दिया है। म्यांमार की सेना ने इस दीवार का विरोध किया है।

गौरतलब है कि इस दीवार को चीन के दक्षिणी-पश्चिमी यून्‍नान प्रांत में 6 से 9 मीटर ऊंची कंटीले तारों से बनाया जा रहा है। अमेरिका के एक शीर्ष प्रबुद्ध मंडल ने कहा है कि दक्षिण एशिया में चीन की बढ़ती भूमिका का क्षेत्र की राजनीति, अर्थशास्त्र और सुरक्षा पर बड़ा प्रभाव पड़ रहा है और आने वाले दशकों में क्षेत्र में संघर्ष एवं उथल पुथल काफी बढ़ सकती है।

म्‍यांमार ने किया विरोध
इस दीवार का विरोध करते हुए म्‍यामांर की सेना ने चीनी अधिकारियों को एक आपत्ति पत्र लिखा है। सूत्रों के मुताबिक, म्‍यांमार सेना के प्रवक्‍ता मेजर जनरल जॉ मिन तुन ने कहा, ‘हमने वर्ष 1961 में हुई सीमा संधि के आधार पर यह आपत्ति जताई है।’ इस संधि के प्रावधानों में कहा गया है कि सीमांकन के 10 मीटर के अंदर किसी भी ढांचे का निर्माण नहीं हो सकता है। हालांकि चीन ने अपने बयान में यह दावा किया था कि अवैध रूप से लोगों के प्रवेश पर रोक लगाने के लिए वह बाड़ का निर्माण करा रहा है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

वॉट्सऐप : 8 फरवरी को नहीं होगा किसी का अकाउंट डिलीट, चौतरफा हो रही आलोचना से एक कदम पीछे हटी कंपनी

कोलकाता : वॉट्सऐप ने बीते दिनों अपनी प्राइवेसी पॉलिसी को अपडेट कर लोगों को इसे एक्सेप्ट करने के लिए 8 फरवरी की डेडलाइन दी थी। आगे पढ़ें »

भारत के युवा गेंदबाजों ने आस्ट्रेलिया को 369 रन पर आउट किया

ब्रिस्बेन: भारत के युवा और अनुभवहीन गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए चौथे और आखिरी टेस्ट के दूसरे दिन ऑस्ट्रेलिया के आखिरी पांच विकेट 58 आगे पढ़ें »

ऊपर