काठमांडू के पास नदी में गिरी बस, 8 की मौत

bus fallen in river

काठमांडू : पड़ोसी देश नेपाल से एक बड़े हादसे की खबर सामने आ रही है। यहां पर देश की राजधानी काठमांडू के पास एक बस सुनकोसी नदी में गिर गई। रविवार को सिंधुपालचौक जिले में एक यात्री बस के दुर्घटनाग्रस्त होने से कम से कम आठ लोगों की मौत हो गई। पुलिस ने नदी किनारे से एक लड़की और चार महिलाओं के शव बरामद किए हैं। पुलिस ने घटना के बाद बचाव अभियान तेज कर दिया है। हादसे के समय बस में 34 लोग सवार थे।

वहीं अन्य लोग घायल बताए जा रहे हैं। यह बस दोलाखा से काठमांडू जा रही थी। हादसे के कारणों का अभी तक पता नहीं चल सका है। हादसे में घायल हुए लोगों को इलाज के लिए नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया। स्थानीय पुलिस घटना के कारणों का पता लगाने की कोशिश में जुटी हुई है। वहीं घायलों को हरसंभव मदद मुहैया कराने का प्रयास किया जा रहा है।

घटना के विवरण की प्रतीक्षा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Bhopal Metro

मध्य प्रदेश में मेट्रो के साथ रैपिड रेल चलाने की योजना : मंत्री जयवर्धन सिंह

भोपाल : मध्यप्रदेश के नगरीय विकास मंत्री जयवर्धन सिंह ने कहा कि राज्य में मेट्रो रेल के साथ ही रैपिड रेल चलाने की योजना बनाई आगे पढ़ें »

Rape victim

सोशल मीडिया पर तस्वीरें पोस्ट करने की धमकी देकर करता रहा बलात्कार, हुआ गिरफ्तार

कोलकाता : सोशल मीडिया पर नग्न तस्वीरें पोस्ट करने की धमकी देकर बलात्कार करने का आरोप है। यह आरोप सोदपुर के गौरांगनगर के रहनेवाले युवक आगे पढ़ें »

Kalyani Expressway

कल्याणी एक्सप्रेस वे पर लुटेरों ने बाइकसवार को मारी गोली,हालत गंभीर

pdp

पीडीपी सांसद ने गृह मंत्री को लिखा पत्र, राजनीतिक बंदियों को रिहा करने की मांग की

officer

भारतीय मूल के पुलिसकर्मी के सम्मान में ह्यूस्टन पुलिस ने ड्रेस कोड नीति बदली

coal burning roadside

कोलकाता में सड़क किनारे चूल्हा जलाने वालों के खिलाफ शुरू हुई कार्रवाई

Gay couple wants police protection

बारासात के समलैंगिक जोड़े को मिल रही परिवार से धमकी, पुलिस से लगाई सुरक्षा की गुहार

ram barat

अयोध्या से जनकपुर के लिए निकलेगी भव्य राम बारात, शामिल हो सकते हैं प्रधानमंत्री मोदी

anand kumar

‘सुपर 30’ के संस्थापक ने जेएनयू के इन छात्रों के लिए कही ये बात

rao

नर्सरी में लाखों रुपये फीस देने वालों को उच्च शिक्षा में 50 हजार रुपये देने में दिक्कत क्यों : जीवीएल नरसिंह राव

ऊपर