राजनीतिक संकट और सेना के दबाव के बाद बोली‌विया के राष्ट्रपति ने दिया इस्तीफा

Evo Morales

ला पाज : बोली‌विया में राजनीतिक संकट के कारण राष्ट्रपति इवो मोरालेस ने इस्तीफा दे दिया है। जानकारी के अनुसार मोरालेस के पर चुनाव नतीजों में घपला का आरोप लगा था जिसके बाद से सेना और जनता ने मोरालेस पर दबाव डालना शुरु कर दिया। दक्षिण अमेरिकी में चुनाव में अनियमितताओं को लेकर लंबे समय से विरोध प्रदर्शन जारी है। हालांकि इस्तीफा देने से पहले मोरालेस ने एक नए सिरे से चुनाव कराने की कोशिश भी की थी। लेकिन मुश्‍किल तब बढ़ी जब बोलिविया के सेना प्रमुख ने राष्ट्रीय टेलीविजन चैनल पर राष्ट्रपति से इस्तीफे की मांग की। इसके बाद ही मोरालेस ने विधानसभा में अपना इस्तीफा भेजने का ऐलान किया।

लोगों के मनाया जश्न

मोरालेस ने अपने इस्तीफे के बाद देश के नागरिकों से शांति बनाए रखने की अपील की। उन्होंने कहा कि मैं लोगों से विनती करता हूं कि वे चीजों को न जलाए और न ही हमला करें। राष्ट्रपति के बयान खत्म होने से पहले ही लोग कार में हॉर्न बजा कर और सड़क पर उतरकर जश्न मनाने लगे। इन सबके बीच मोरालेस ने बताया कि उनके खिलाफ वांरट जारी कर दिया गया है। उन्होंने ट्वीट करके बताया कि एक पुलिस अधिकारी ने सार्वजनिक रूप से कहा है कि उसके पास मेरे लोगों को गैरकानूनी रूप से गिरफ्तार करने के आदेश हैं। उन्होंने कहा कि हिंसक समूहों ने मेरे घर पर हमला भी किया था। मोरालेस की गिराफ्तारी वारंट जारी होने की पुष्टि कंजर्वेटिव नेता लुइस फर्नांडो कैमेचो ने ‌की। कैमेचो ने बताया कि मोरालेस से उनका राष्ट्रपति विमान ले लिया गया है और वह चापारे में छिपे हैं। उनकी तलाश जारी है। मालूम हो कि फर्नांडो तीन हफ्तों से चल रहे प्रदर्शनों का नेतृत्व कर रहे है। माेरालेस ने चापारे से ही अपने इस्तीफे की घोषणा की।

चुनाव में मिली कई अनियमितताएं

ऑर्गेनाइजेशन ऑफ अमेरिकन स्टेट्स (ओएएस) की रिपोर्ट के अनुसार 20 अक्टूबर को हुए चुनाव में कई अनियमितताएं मिली हैं और देश में नया चुनाव होना चाहिए। हालांकि नए चुनाव के प्रक्रिया के लिए मोरालेस ने हामी भी भर दी थी लेकिन सेना प्रमुख जनरल विलियम्स कलीमन ने कहा कि यह पर्याप्त नहीं है। बता दें कि पिछले महीने चौथी बार चुनाव जीतने के उनके दावे ने देश में अशांति का माहौल पैदा कर दिया था। इस वजह से समर्थकों तथा प्रतिद्वंद्वियों के बीच हुई झड़प में तीन लोगों की मौत और 100 से अधिक के घायल होने की खबर सामने आई थी।

अन्य मंत्रियों ने भी दिया इस्तीफा

जानकारी के मुताबिक आंतरिक संघर्ष की स्थिति का आकलन करने के बाद हम राष्ट्रपति से इस्तीफा देने की मांग की है ताकि बोलीविया के हित में शांति और स्थिरता बरकरार रखी जा सके। राष्ट्रपति के इस्तीफे के बाद देश में नेतृत्व का संकट पैदा हो गया था। माेरालेस के अलावा दो मंत्रियों और अन्य सरकार समर्थक विधायकों ने अपने इस्तीफे की घोषणा की। विपक्ष के समर्थकों ने इन मं‌‌त्रियों के परिवार वालों को धमकी भी दी हैं।

मालूम हो कि बोलीविया की मूल निवासी आबादी के राष्ट्रपति बनने वाले माेरालेस पहले सदस्य थे और उन्होंने 3 साल नौ महीने तक देश की सेवा की। साल 2006 में चुने जाने के बाद मोरालेस ने दक्षिण अमेरिका के गरीब देश को आर्थिक वृद्धि की राह पर लाने में बहुत बड़ा योगदान दिया था। सड़के बनवाना,बोलीविया के पहले उपग्रह को अंतरिक्ष में भेजना और मंहगाई पर लगाम लगाने जैसे जरुरी काम मोरालेस ने अपने कार्यकाल में किए।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

मालदह में युवती से ‘गैंग रेप’, फिर जिंदा जलाया

हैदराबाद जैसी घटना से बंगाल स्तब्ध शव की हालत इतनी खराब कि उसकी शिनाख्त नहीं हो पायी सन्मार्ग संवाददाता मालदहः हैदराबाद सामूहिक दुष्कर्म और हत्याकांड जैसी घटना गुरुवार आगे पढ़ें »

बिग बॉस 13 से बाहर होंगे सिद्धार्थ शुक्ला,जानकर दुखी हुए फैन

मुंबई : टीवी रिएलिटी शो बिग बॉस का सीजन 13 कई मायनों में सुपरहिट साबित हो रहा है और रोजाना कोई ना कोई नया विवाद आगे पढ़ें »

ऊपर