बड़ा हादसा: …तो इसी गलती से 41 लोग जिंदा जल गए

ढाकाः बांग्लादेश में 24 दिसंबर को फेरी में लगी आग को लेकर चालक दल की बड़ी लापरवाही सामने आ रही है। शुक्रवार को झलकाठी में सुगंधा नदी पर एमवी ओभिजन 10 में आग लगने से 41 लोगों की मौत हो गई थी। प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि फेरी रवाना होने से करीब 20-25 मिनट बाद सुगंधा नदी के दपडापिया बिंदु को पार करते समय इंजन में आग लग गई थी। बरगुना के राशेद नामक एक यात्री ने सबसे पहले इंजन में आग देखी। रशीद ने बताया कि वो इंजन के पास बैठा था, तभी उसकी नजर आग पर पड़ी। इसके बावजूद फेरी 40-45 मिनट तक चलती रही। अगर उसे समय पर किनारे ले जाया जाता, तो इतना बड़ा हादसा नहीं होता। फेरी के कर्मचारी वहीं आग बुझाने में लगे रहे। बारीसाल संभागीय आयुक्त सैफुल अहसान बादल ने कहा कि इस हादसे के लिए नाविक की अक्षमता एक बड़ा अपराध है। अगर आग लगने के बाद वो बिना जोखिम उठाए फेरी को किनारे ले आता, तो इतनी बड़ी त्रासदी नहीं होती।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

जब पुलिस ने ही की व्यवसायी के घर में डकैती

ठेकेदार के घर डकैती के आरोप में एएसआई सहित 3 निलंबित 34 भरी सोने के गहने सहित श्रमिकों को भुगतान के लिए रखे गये 25 लाख आगे पढ़ें »

ऊपर