ट्रंप के खिलाफ बाइडेन ने पहली बार महाभियोग चलाने की मांग की

Biden

वॉशिंगटन : अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ पूर्व उप राष्ट्रपति तथा डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद के प्रमुख दावेदार जो बाइडेन ने पहली बार महाभियोग चलाने की मांग की और कहा कि ट्रंप अमेरिका के लोकतंत्र के लिए खतरा हैं, उन्होंने पद की शपथ का उल्लंघन किया है। उनकी पार्टी ने इस दावे पर महाभियोग जांच शुरू की है कि ट्रंप ने 25 जुलाई को टेलीफोन पर हुई बातचीत में यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की पर उन भ्रष्ट व्यापारिक सौदे की जांच करने का दबाव बनाया, जिसमें बाइडन कथित रूप से शामिल हैं।

अपनी गतिविधियों से खुद को आरोपित किया ट्रंप ने

डेमोक्रेट सदस्यों का कहना है कि ट्रंप ने यूक्रेन को अमेरिकी सैन्य सहायता रोककर वहां के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की को जांच के लिए बाध्य किया। बाइडेन ने कहा, ‘अमेरिका के इतिहास में कभी किसी राष्ट्रपति ने इस तरह का अकल्पनीय व्यवहार नहीं किया। राष्ट्रपति ट्रंप ने अपने शब्दों और अपनी गतिविधियों से खुद को आरोपित किया है। न्याय के रास्ते में बाधा खड़ी करके और कांग्रेस की जांच में सहयोग से इनकार करके उन्होंने खुद को दोषी साबित किया है।’ इसके बाद ट्रंप ने इन आरोपों से इनकार किया है और जांच को दुर्भावना से प्रेरित बताया है।

ट्रंप ने पद की शपथ का उल्लंघन किया
बाइडेन ने पहली बार सार्वजनिक रूप से ट्रंप पर महाभियोग चलाने के लिए प्रतिनिधि सभा में डेमोक्रेट नेताओं का समर्थन करते हुए कहा, ‘अमेरिकी जनता साफ देख सकती है कि ट्रंप ने पद की शपथ का उल्लंघन किया, राष्ट्र को धोखा दिया और महाभियोग लायक कृत्य किए। हमारे संविधान, लोकतंत्र, बुनियादी एकता की रक्षा के लिये उनपर महाभियोग चलाया जाना चाहिए। ’ ट्रंप ने पलटवार करते हुए बाइडेन को भ्रष्टाचारी बताया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

hongkong

हांगकांग ‘लोकतंत्र अधिनियम’ पारित, चीन ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

वाशिंगटन : हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों की मांग वाले एक विधेयक को अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने मंगलवार को पारित कर दिया, जिसका उद्देश्य उस आगे पढ़ें »

रतन टाटा खुद को मानते हैं ‘एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक’, कई बड़ी कंपनियों में है हिस्सेदारी

नई दिल्ली : उद्योगपति और टाटा समूह के चेयरमैन रतन टाटा ने खुद को 'एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक' माना है। उन्होंने दर्जनभर से ज्यादा स्टार्टअप कंपनियों आगे पढ़ें »

court

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने 40 दिन की सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रखा

ayodhya

अयोध्या मामला : मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कहा, शीर्ष न्यायालय के फैसले को स्वीकार किया जाना चाहिए

अमेरिकी प्रतिबंधों के पालन के लिए भारत अपना नुकसान नहीं करेगा: वित्त मंत्री

russia

तुर्की और सीरिया की लड़ाई में रूस बना दीवार, तैनात की अपनी आर्मी

sitaraman

अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद ‘मानवाधिकार’ विश्व स्तर पर ज्वलंत शब्द बन गया : सीतारमण

chetak

बजाज ने पेश किया इलेक्ट्रिक चेतक स्कूटर, सामने आया पहला लुक

rail

रेलवे ने शुरू की नई योजना, अब फिल्म प्रमोशन के लिए हो सकेगी ट्रेनों की बुकिंग

modi

पीएम मोदी बोले- राष्ट्र निर्माण का आधार है सावरकर के संस्कार

ऊपर