बांग्लादेश ने जर्मनी से रोहिंज्ञा मुस्लिमों को वापस भेजने के लिए म्यांमार पर दबाव डालने को कहा

Rohingya muslim

ढाका : बांग्लादेश के विदेश मंत्री डॉक्टर अब्दुल मोमेन ने जर्मनी के अपने समकक्ष हिको मास से मुलाकात करके उनसे रोहिंज्ञा मुस्लिमों को वापस भेजने के लिए म्यांमार पर दबाव डालने का आग्रह किया है। मास के साथ द्विपक्षीय बैठक में मोमेन ने बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के 74वें संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक में चार सूत्रीय प्रस्ताव को संदर्भित किया और जर्मनी सरकार तथा अंतरराष्ट्रीय समुदाय से रोहिंज्ञाओं की म्यांमार में सुरक्षित वापसी सुनश्चित करने का आग्रह किया। बैठक के दौरान मोमेन ने जर्मनी के व्यापारियों से बांग्लादेश में निवेश करने का भी आग्रह किया। दोनों नेताओं के बीच बैठक में द्विपक्षीय रिश्तों के बारे में चर्चा हुई। जर्मनी और बांग्लादेश के बीच मजबूत व्यापारिक रिश्तों पर विस्तार से चर्चा की गयी जिसमें जर्मन कंपनी वेरिडोस द्वारा ई-पासपोर्ट का क्रियान्वयन और ऊर्जा क्षेत्र में सीमेन्स का सहयोग शामिल है।

शांति से ही संकट से बचा जा सकता है

वैश्विक मुद्दे पर आपसी हित के बारे में चर्चा होने के दौरान मोमेन ने संयुक्त राष्ट्र में बांग्लादेश द्वारा शांति संकल्प के बारे में चर्चा की और कहा कि शांति से ही संकट से बचा जा सकता है। जर्मनी के विदेश मंत्री ने बांग्लादेश द्वारा रोहिंज्ञा मुस्लिमों को मानवता के आधार पर पनाह देने के लिए उसकी सराहना की। उन्होंने इसके साथ ही बांग्लादेश के आर्थिक और सामाजिक विकास को भी सराहा और पर्यावरण परिवर्तन पर बांग्लादेश का समर्थन करने का भी आश्वासन दिया। इससे पहले बांग्लादेश के विदेश मंत्री ने जर्मनी के आर्थिक सहयोग और विकास मंत्री मोमेन से मुलाकात की। बैठक के दौरान मोमेन ने जर्मनी द्वारा बांग्लादेश को ग्रामीण विकास, प्राथमिक शिक्षा, निजी क्षेत्र में विकास तथा अन्य क्षेत्रों में दी गयी मदद की सराहना की।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वेस्टइंडीज जीत के करीब, इंग्लैंड ने दूसरी पारी में 313 रन बनाए

साउथैम्पटन : इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में वेस्टइंडीज जीत की ओर है। मैच के पांचवें दिन टी ब्रेक तक मेहमान टीम ने 4 विकेट के आगे पढ़ें »

पगबाधा का फैसला सिर्फ और सिर्फ डीआरएस से हो : तेंदुलकर

नयी दिल्ली : महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अंपायरों के फैसलों की समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को ‘अंपायर्स कॉल’ को हटाने आगे पढ़ें »

ऊपर