ऑस्ट्रेलिया के वैज्ञानिकों ने चीन के बाहर पहली बार पैदा किया कोरोना वायरस

corona

मेलबर्न : दुनियाभर में तबाही मचा रहे जानलेवा कोरोना वायरस से लड़ने में मदद के लिए इसे पहली बार चीन के बाहर नियंत्रित परिस्थितियों में विकसित किया गया है। मालूम हो कि इस खतरनाक वायरस से चीन में अब तक करीब 130 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है और हजारों लोग इस संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। मेलबर्न विश्वविद्यालय और रॉयल मेलबर्न अस्पताल के शोधकर्ताओं ने बुधवार को बताया कि इस खोज से वायरस की वैश्विक रूप से सही जांच करने और उसका इलाज ढूंढने में मदद मिलेगी।

चीन ने जारी किया था कोरोना वायरस का जीन

द रॉयल मेलबर्न अस्पताल के जूलियन ड्रूस ने कहा कि ‘चीनी अधिकारियों ने इस नोवेल कोरोना वायरस का जीन का समूह जारी किया था जो इस रोग की पहचान करने में मददगार है। हालांकि असली वायरस का होने का मतलब है कि अब जांच की सभी पद्धतियों का सत्यापन करने की क्षमता है जो इस रोग के निदान में काफी महत्वपूर्ण साबित होगा।’

इसका इस्तेमाल एंटीबॉडी जांच विकसित करने में होगा

बताया जा रहा है कि प्राकृतिक वातावरण के बाहर जो वायरस विकसित किया गया है उसका इस्तेमाल एंटीबॉडी जांच विकसित करने में किए जाने की संभावना है। इससे उन मरीजों में भी वायरस का पता किया जा सकेगा जो लक्षण नजर नहीं आने के कारण खुद के संक्रमित होने की बात से अनभिज्ञ हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

bengal

मालदा में पुल ढहने को लेकर भाजपा और तृणमूल ने एक-दूसरे पर साधा निशाना

मालदा : पश्चिम बंगाल के मालदा जिले में निर्माणाधीन पुल का एक हिस्सा ढहने की घटना को लेकर सोमवार को सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और विपक्षी आगे पढ़ें »

shivsena

शिवसेना का तंज, ट्रंप के स्वागत के लिए मोदी ने शुरू की ‘गरीबी छुपाओ’ योजना

मुंबई : शिवसेना ने अपने मुखपत्र 'सामना' के संपादकीय में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के दो‌ दिवसीय भारत दौरे की तैयारियों की तुलना गुलाम हिंदुस्तान आगे पढ़ें »

ऊपर