9/11 हमले की 18वीं बरसी पर अफगानिस्तान में अमेरिकी दूतावास पर हमला

kabul

काबुल : अमेरिका में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर (डब्ल्यूटीसी) पर 11 सितंबर 2001 को हुए आतंकवादी हमले के 18 साल पूरे होने के दिन अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में बुधवार को अमेरिकी दूतावास पर हमला किया गया। अधिकारियों ने बताया कि इस हमले में कोई हताहत नहीं हुआ है। फिलहाल किसी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक आधी रात के बाद मध्य काबुल में धुआं छा गया और सायरन बजने की आवाजें सुनाई देने लगीं। दूतावास के अंदर कर्मचारियों ने बताया कि परिसर पर रॉकेट से हमला किया गया है।

ट्रंप ने शांति वार्ता रद्द किया

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा तालिबानी नेताओं के साथ शांति वार्ता रद्द किए जाने के फैसले के बाद अफगानिस्तान की राजधानी में पहला बड़ा हमला है। अमेरिका-तालिबान के बीच आठ सितंबर को कैंप डेविड में वार्ता होनी थी। बता दें कि काबुल में पांच ‌सितंबर को एक कार धमाके में एक अमेरिकी सैनिक समेत 12 लोगों की मौत हुई थी, जिसकी वजह से ट्रंप ने अमेरिका-तालिबान शांति वार्ता को रद्द कर दिया था।

सात नागरिकों की मौत

गौरतलब है कि इससे पहले अफगानिस्तान के मैडन वर्दक प्रांत में रविवार को अमेरिका द्वारा किए गए एयरस्ट्राइक में 7 नागरिकों की मौत हुई थी। सूत्रों के अनुसार इस घटना के लिए प्रांत के लोगों ने अफगान सरकार से जांच की अपील की थी।

बता दें कि 11 सितम्बर 2001 को अलकायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन के नेतृत्व में अमेरिका के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर और पेंटागन पर भीषण आतकंवादी हमला हुआ था, जिसमें 2,983 लोगों की मौत हुई थी। इसके बाद अमेरिका ने मई 2011 में ओसामा बिन लादेन को मार दिया था, जिसके बाद अफगानिस्तान में तालिबान का पतन हुआ था। आपको बता दें कि 18 साल बाद भी करीब 14,000 अमेरिकी सैनिक अफगानिस्तान में तैनात हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

hongkong

हांगकांग ‘लोकतंत्र अधिनियम’ पारित, चीन ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

वाशिंगटन : हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों की मांग वाले एक विधेयक को अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने मंगलवार को पारित कर दिया, जिसका उद्देश्य उस आगे पढ़ें »

रतन टाटा खुद को मानते हैं ‘एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक’, कई बड़ी कंपनियों में है हिस्सेदारी

नई दिल्ली : उद्योगपति और टाटा समूह के चेयरमैन रतन टाटा ने खुद को 'एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक' माना है। उन्होंने दर्जनभर से ज्यादा स्टार्टअप कंपनियों आगे पढ़ें »

court

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने 40 दिन की सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रखा

ayodhya

अयोध्या मामला : मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कहा, शीर्ष न्यायालय के फैसले को स्वीकार किया जाना चाहिए

अमेरिकी प्रतिबंधों के पालन के लिए भारत अपना नुकसान नहीं करेगा: वित्त मंत्री

russia

तुर्की और सीरिया की लड़ाई में रूस बना दीवार, तैनात की अपनी आर्मी

sitaraman

अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद ‘मानवाधिकार’ विश्व स्तर पर ज्वलंत शब्द बन गया : सीतारमण

chetak

बजाज ने पेश किया इलेक्ट्रिक चेतक स्कूटर, सामने आया पहला लुक

rail

रेलवे ने शुरू की नई योजना, अब फिल्म प्रमोशन के लिए हो सकेगी ट्रेनों की बुकिंग

modi

पीएम मोदी बोले- राष्ट्र निर्माण का आधार है सावरकर के संस्कार

ऊपर