कोरोना के बाद जापान में एक और महामारी का कहर

तोक्योे : पूरी दुनिया कोविड-19 जैसी महामारी से जूझ रही है। जापान भी इससे अछूता न रहा। जापान की काेरोना संबंधी तकलीफें अभी खत्म भी नहीं हुईं कि उसपर बर्ड फ्लू का संकट मंडराने लगा है। वहां रिकॉर्ड स्तर पर बर्ड फ्लू का प्रभाव देखा जा रहा है। बता दें कि जापान में 47 प्रान्तों में से 10 बर्ड फ्लू से बुरी तरह प्रभावित हैं। लगभग 3 मिलियन पक्षी इससे प्रभावित है। अगर इस मामले को समझदारी से संभाला न गया तो जापान में बर्ड फ्लू अपना विकराल रूप धारण कर लेगी। इसी संदर्भ में बड़ी संख्या में पक्षियों को मारकर दफनाने के आदेश जारी किए गए हैं।

कहां हुई इसकी शुरुआत

जापान के कृषि मंत्रालय ने कहा है कि करीब 11,000 पक्षियों को मारकर उन्हें दफन किया जाएगा। यह फैसला दक्षिण-पश्चिम जापान के शिगा प्रान्त में हिगाशीओमी शहर में एक पोल्ट्री फॉर्म में अंडे से एवियन इन्फ्लूएंजा फैलने के बाद लिया गया था। इसके अलावा, कागवा प्रांत में भी बर्ड फ्लू का नया प्रकोप देखा जा रहा है। इसकी शुरुआत पिछले महीने हुई थी। संयुक्त राष्ट्र के खाद्य और कृषि संगठन (एफएओ) के अनुसार, जापान और पड़ोसी दक्षिण कोरिया में फैली यह महामारी दुनिया भर में मुर्गों की मौत के लिए जिम्मेदार दो अलग-अलग उच्च रोगजनक एवियन इन्फ्लूएंजा (एचपीएआई) में से एक है। यह सबसे पहले यूरोप में जंगली पक्षियों में पैदा हुआ था।

कोरियाई वायरस से संबंधित

एफएओ के एक वरिष्ठ पशु स्वास्थ्य अधिकारी मधुर ढींगरा ने कहा, ‘जापान में पाया जाने वाला वायरस आनुवंशिक रूप से हाल के कोरियाई वायरस और इस तरह 2020 की शुरुआत में यूरोप में वायरस से संबंधित हैं।’ इसका अर्थ यह है कि वर्तमान में पूर्वी एशिया और यूरोप में दो अलग-अलग एच-5 एन-8 एचपीएआई वायरस मौजूद हैं जो महामारी फैला रहे हैं। एफएओ ने अफ्रीकी स्वास्थ्य अधिकारियों को हाल ही में यूरोप में फैले बर्ड फ्लू वायरस के प्रसार से बचने के लिए खेतों की निगरानी के लिए अलर्ट जारी किया है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

ब्रेकिंग : अभिषेक से मिलने के बाद शताब्दी का यू टर्न, कहा पार्टी के साथ हूं

कोलकाता : बीरभूम की तृणमूल सांसद और अभिनेत्री शताब्‍दी रॉय ने दिया बड़ा बयान कहा कि पार्टी के साथ ही हूं और साथ ही रहूंगी। आगे पढ़ें »

नौकरी नहीं है इसलिए किडनी बेचने को तैयार हुआ युवक

स्वास्थ्य मंत्री से कहा - इसका उचित मूल्य दिलाएं बेरोजगार युवक का पोस्ट बना राजनीतिक मुद्दा बारासात : बारासात के एक युवक रफिकुल इस्लाम के फेसबुक पर आगे पढ़ें »

ऊपर