2020 के परमाणु संधि सम्मेलन में समझौता होना मुश्किल : अमेरिका

संयुक्त राष्ट्रः परमाणु अप्रसार संधि (एनपीटी) की अगले साल होने वाली समीक्षा की तैयारी के लिए आखिरी बैठक शुक्रवार को गहरे मतभेदों के बीच समाप्त हुई और अमेरिकी राजदूत राबर्ट वुड ने कहा कि 2020 के सम्मेलन में किसी समझौते पर पहुंचना काफी कठिन होगा। हालांकि, उन्होंने दो सप्ताह तक चले सम्मेलन के आखिरी सत्र में कहा, ‘यह ऐसा कार्य है जिसे हम छोड़ नहीं सकते।’ परमाणु अप्रसार संधि परमाणु हथियारों के संबंध में दुनिया का सबसे महत्वपूर्ण समझौता है और इसका मकसद परमाणु हथियारों के प्रसार को रोकना है।

संधि में शामिल सभी सदस्य हर पांच साल पर इसकी समीक्षा करते हैं। वुड ने कहा कि सदस्य देश संधि को अद्यतन नहीं करते क्योंकि ऐसा करना कठिन है। लेकिन वे समस्याओं के बारे में नए दृष्टिकोणों पर सहमत होने का प्रयास करते हैं। इसके लिए वे सर्वसम्मति बनाने की कोशिश करते हैं।

संयुक्त राष्ट्र में मलेशिया के राजदूत सैयद मोहम्मद हसरीन तेंगकु हुसैन तैयारियों से जुड़े तीसरे सम्मेलन के अध्यक्ष थे। उन्होंने शुक्रवार को संवाददाताओं से कहा कि सदस्य देशों के प्रतिनिधि ‘कुछ बातों पर सहमत नहीं हैं लेकिन वे संधि के पूर्ण कार्यान्वयन के लिए प्रतिबद्ध हैं।


शेयर करें

मुख्य समाचार

विश्वभारती मामला : नहीं मिला स्टे, चहारदीवारी बनेगी

कोलकाता : हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस टी बी राधाकृष्णन और जस्टिस शंपा सरकार के डिविजन बेंच ने राज्य सरकार की अपील खारिज कर दी। आगे पढ़ें »

ड्रग्स मामले पर अभिषेक ने ताेड़ी चुप्पी…

- अभिषेक बच्चन पर किसी सोशल मीडिया यूजर ने साधा निशाना - अभिनेता को कभी उनकी जॉब तो कभी एक्टिंग पर ट्रोल किया जाता है - हर आगे पढ़ें »

ऊपर