आखिर क्यों अंधेरे में डूबा एफिल टॉवर?

पेरिस : श्रीलंका में ईस्टर के मौके पर हुए आठ बम धमाकों से पूरा विश्व दहल उठा है। सीरियल ब्लास्ट में मारे गए लोगों को दुनियाभर के लोग अपने-अपने तरीके से श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं। विश्व प्रसिद्ध फ्रांस के एफिल टाॅवर ने भी ब्लास्ट मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी। बता दें कि रविवार देर रात एफिल टॉवर की सारी लाइटों को एक साथ बंद कर अंधेरा कर दिया गया।

गौरतलब है कि रविवार को एक ओर जहां दुनियाभर में ईस्टर का त्यौहार मनाया जा रहा था वहीं श्रीलंका में एक के बाद एक आठ बम धमाकों ने श्रीलंका को हिला दिया। धमाकों में अब तक करीब 290 लोगों की मौत हो गई है जबकि घायलों की संख्या 500 से अधिक बताई जा रही है। बता दें कि मरने वालों में 35 विदेशी समेत तीन भारतीय भी शामिल हैं। श्रीलंका के तीन गिरजाघरों और तीन होटलों में एक साथ 6 विस्फोट हुए जबकि दो धमाके थोड़े अंतराल के बाद हुए थे। यह हमला श्रीलंका के इतिहास में सबसे भयानक हमलों में से एक है। वहीं, अमेरिका ने भी आधिकारिक बयान जारी कर श्रीलंका सीरियल ब्लास्ट की कड़ी निंदा की है।

वहीं दूसरी ओर बिहार के बोधगया में भी बौद्ध भिक्षुओं ने बम धमाकों के पीड़ितों के लिए प्रार्थना सभा आयोजित की गई। रविवार देर रात बौद्ध भिक्षुओं ने कैंडल मार्च निकाल कर सीरियल बम ब्लास्ट में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी।

पुलिस ने बताया कि ये धमाके सुबह 8 बजकर 45 मिनट पर पश्चिमी तटीय शहर नेगेंबो के सेंट सेबेस्टियन चर्च, सेंट एंथनी चर्च, सेंट माइकल चर्च, जबकि तीन 5 स्टार होटलों को निशाना बनाया गया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

dead

निर्भया मामले में अपराधियों को तिहाड़ जेल नंबर-3 में दी जाएगी फांसी, तैयारियां शुरू

नई दिल्ली : निर्भया के चारों दोषी तिहाड़ जेल में बंद है। राष्ट्रपति की ओर से इन दोषियों को फांसी देने वाली दया याचिका पर आगे पढ़ें »

सरकारी कंपनियों के रणनीतिक विनिवेश में ढिलाई पर कैग ने किए सवाल

नई दिल्ली : सरकारी कंपनियों के रणनीतिक विनिवेश के लक्ष्य की प्राप्ति में ढिलाई पर कैग ने सरकार पर सवाल खड़ा करते हुए कहा है आगे पढ़ें »

ऊपर