लाखों लोग पासवर्ड के तौर पर कर रहे हैं ‘123456’ का इस्तेमाल

लंदन: राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा केंद्र (एनसीएससी) के अध्ययन में हाल ही में पता चला है कि लाखों लोग अब भी संवेदनशील अकाउंट्स पर आसानी से याद रखने वाले पासवर्ड जैसे कि ‘123456’ और ‘‘क्वर्टी’’ का इस्तेमाल कर रहे हैं। की-बोर्ड में अक्षरों की पहली पंक्ति में एक साथ लिखे पांच अक्षर (क्यू, डब्ल्यू, ई, आर, टी) ‘क्वर्टी’ शब्द बनाते हैं। ब्रिटेन के एनसीएससी के अध्ययन में कहा गया है कि ऐसे पासवर्ड का करने से लोगों की सुरक्षा खतरे में पड़ सकती है।

2.3 करोड़ से अधिक पासवर्ड्स में शीर्ष पर “123456” 

एनसीएससी ने कहा कि लोगों को मजबूत पासवर्ड का इस्तेमाल करने के लिए तीन रैंडम लेकिन याद रहने वाले अक्षरों का इस्तेमाल करना चाहिए। अध्ययन में पाया गया कि 2.3 करोड़ से अधिक पासवर्ड्स में शीर्ष पर 123456 है। दूसरा सबसे लोकप्रिय पासवर्ड 123456789 पाया गया। इन दोनों ही पासवर्ड्स में सेंध लगाना मुश्किल काम नहीं है जबकि अन्य पांच शीर्ष पासवर्ड्स में ‘‘क्वर्टी’’, ‘‘पासवर्ड’’ और ‘‘1111111’’ शामिल हैं।

इन आम नामों का भी होता है पासवर्ड के रूप में इस्तेमाल

एक न्यूज चैनल कि रिपोर्ट के अनुसार, पासवर्ड में इस्तेमाल किए जाने वाले आम नाम हैं एश्ले। इसके बाद माइकल, डेनियल, जेसिका और चार्ली नाम पाए गए। एनसीएससी के तकनीक निदेशक इयान लेवी ने कहा कि जो लोग जाने पहचाने शब्दों या नामों वाले पासवर्ड इस्तेमाल करते हैं उनके अकाउंट्स हैक होने का खतरा ज्यादा रहता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कृषि क्षेत्र में बिहार का मॉडल सर्वश्रेष्ठ : जदयू

पटना : बिहार में सत्तारूढ़ जनता दल (यूनाइटेड) ने शुक्रवार को दावा किया कि कृषि क्षेत्र में राज्य का मॉडल सर्वश्रेष्ठ है। जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन आगे पढ़ें »

The country has changed, good days have come: JP Nadda

जेपी नड्डा का शनिवार को बिहार दौरा 

पटना : भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभालने के बाद पहली बार शनिवार को बिहार के एक दिवसीय दौरे पर आ रहे आगे पढ़ें »

ऊपर