भारत सुरक्षा परिषद का स्थाई सदस्य बन सकता है : रूस

नई दिल्ली : भारत-चीन के बढ़ते तनाव के बीच आज भारत-चीन और रूस ने वर्चुअल बैठक की। बैठक में मध्यस्थता की बात को नकारते हुए रूस के विदेश मंत्री सर्गी लैवरॉव ने कहा कि ‘भारत और चीन को किसी बाहरी की मदद की जरूरत नहीं है। जब देश का मामला हो तो उन्हें कोई मदद नहीं चाहिए। हाल की घटनाओं के बारे में मैं यह कहना चाहता हूं कि भारत और चीन इसे खुद सुलझा लेंगे।’ उन्होंने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भी भारत की दावेदारी का समर्थन किया। लैवरॉव ने कहा- भारत सुरक्षा परिषद का स्थाई सदस्य बन सकता है। वह मजबूत कैंडिडेट है और हम उसे अपना समर्थन देते हैं।

भारत के विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा

भारत के विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय नियमों के पालन का मामला हो या फिर सहयोगियों के हितों का ध्यान रखने की बात, दुनिया की अगुआई करने वाले देशों को हर तरह से मिसाल पेश करने वाला होना चाहिए। जयशंकर ने कहा- दुनिया की अगुआई करने वाले देशों को हर मायने में मिसाल पेश करने वाला होना चाहिए। ऐसे देशों को मिलकर काम करना चाहिए ताकि इसका फायदा सभी को मिले और दुनिया को बेहतर बनाया जा सके। यह मौजूदा वक्त की सबसे बड़ी चुनौती हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल मेें फिर आयी कोरोना की बाढ़, एक दिन में अब तक के सबसे अधिक आये मामले

कोलकाता : वेस्ट बंगाल कोविड-19 हेल्थ बुलेटिन के अनुसार पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस संक्रमण के अब तक के सबसे अधिक 743 नये कोरोना वायरस आगे पढ़ें »

दो बार के ओलंपिक चैम्पियन लिन डैन ने अंतरराष्ट्रीय बैडमिंटन को अलविदा कहा

बीजिंग : बैडमिंटन के इतिहास में महानतम खिलाड़ियों में शुमार दो बार के ओलंपिक चैम्पियन चीन के लिन डैन ने शनिवार को अंतरराष्ट्रीय बैडमिंटन को आगे पढ़ें »

ऊपर