भारत में आतंकवाद फैलाने के लिए नकली नोट की सप्लाई

नई दिल्लीः पाकिस्तान भारत में आतंकवादी गतिविधियों को बढ़ाने के लिए अब नकली नोट के प्रसार पर जोर दे रहा है। वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तान से जाली मुद्रा की एक बड़ी मात्रा 2016 से पहले जिस प्रकार अपने गिरोह, उनके सिंडिकेट और मार्गों के रास्ते से भारत में पहुंचाई जाती थी, उन्हीं रास्तों का प्रयोग कर पाकिस्तान फिर से बड़ी मात्रा में जाली नोटों को भारत भेज रहा है।
आश्चर्य की बात यह है कि पाकिस्तान नेपाल, बांग्लादेश और अन्य देशों में जाली भारतीय नोटों की खेप लाने और वितरित करने के लिए राजनयिक माध्यमों का दुरुपयोग करता रहा है। सूत्रों के अनुसार पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई ने पहले के जाली नोटों की प्रतियों के मुकाबले अब बेहतर ढंग से छापने की कला ईजाद कर ली है। जिससे भारत में बेहतर गुणवत्ता वाले जाली नोटों की खेप भेजी जा सकें।

इस तरह छाप रहा है नोट
सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तान भारत में चलने वाले नए नोट की हूबहू नकल तैयार करके लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे आतंकी संगठनों को मुहैया करा रहा है। जांच में पाया गया है कि कराची के ‘मलीर-हाल्ट’ इलाके के ‘पाकिस्तान के सिक्योरिटी प्रेस’ में छापे जा रहे जाली नोट में पहली बार ‘ऑप्टिकल वेरियबल इंक’ का इस्तेमाल हो रहा है जो 2000 के नोट के धागे पर इस्तेमाल होती है।

इन मामलों से हुआ खुलासा
– 22 सितंबर को खालिस्तान समर्थक खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स के पास से 1 करोड़ रकम के नकली नोट बरामद किए थे। इस ग्रुप के पास से पुलिस ने 5 एके-47 राइफल्स, 30 बोर पिस्टल, 9 हैंड ग्रेनेड, 5 सैटलाइट फोन, 2 मोबाइल फोन भी बरामद किए गए थे। यह सारा सामान पाकिस्तानी ड्रोन्स के जरिए पहुंचाया गया था।
– 25 सितंबर को ढाका से पुलिस ने नकली नोट बरामद किए थे। दुबई के रहनेवाले सलमान शेरा ने यह पार्सल सिलहट बांग्लादेश में भेजा था। जांच में पता चला कि पार्सल सिलहट से श्रीनगर के उपाजिला में पहुंचाया जाना था। जांच में खुलासा हुआ कि सलमान शेरा पाकिस्तान के आईएसआई से जुड़े कुख्यात असलम शेरा का बेटा है। असलम 90 के दशक से नकली करेंसी के कारोबार में है।
– मई 2019 में नेपाल की राजधानी काठमांडू के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से डी-कंपनी सहयोगी यूनुस अंसारी को तीन पाकिस्तानी नागरिकों के साथ लगभग आठ करोड़ भारतीय जाली रुपये की बड़ी खेप के साथ गिरफ्तार किया गया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Nirmala-Sitharaman

आम बजट में टैक्स सुधारों के लिए वित्त मंत्रालय ने संगठनों से मांगे सुझाव

नई दिल्ली : आम बजट में टैक्स सुधारों के लिए वित्त मंत्रालय उद्योग जगत और उससे जुड़े विभिन्न संगठनों-संस्थाओं से राय ली जा रही है। आगे पढ़ें »

Supreme court

केवल सबरीमाला में ही महिलाओं का प्रवेश वर्जित नहीं, अन्य धर्मों में भी है ऐसा- रंजन गोगोई

नई दिल्ली : सबरीमाला मामले में पुनर्विचार याचिका पर उच्चतम न्यायालय ने सात न्यायाधीशों की पीठ के पास यह मामला भेज दिया है। यह फैसला आगे पढ़ें »

ऊपर