भारतीय विदेश सचिव के चीन दौरे से साफ होगा मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करवाने का रास्ता ?

बीजिंग : पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मौलाना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित कराये जाने में रोड़े अटका रहे चीन से बातचीत के सिलसिले में भारत के विदेश सचिव विजय गोखले रविवार को बीजिंग की दो दिवसीय यात्रा पर जा रहे हैं। साथ ही वे वहां चीनी विदेश मंत्री वांग यी से अन्य मुद्दों पर भी चर्चा करेंगे। इसलिये उम्मीद जताई जा रही है कि इन मामलों में कोई सकारात्मक पहल हो सकती है।
बाधा डालना बंद करे
गोखले के दौरे के दौरान अजहर को लेकर दोनों देशों के बीच बात हो सकती है। माना जा रहा है कि यदि ऐसा होता है तो इसका प्रभाव भारत में चल रहे लोकसभा चुनाव पर देखने को मिल सकता है। भारत चाहता है कि बीजिंग अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित किये जाने में बाधा डालना बंद करे। भारत यह भी चाहता है कि चीन पाकिस्तान पर अजहर और उसके सहयोगियों को लेकर कार्रवाई का दबाव बनाये।
दोनों देशों के बीच अच्छे संबंध बने रहेंगे
भारत में चीनी दूतावास का कहना है कि गोखले की यह यात्रा नियमति द्विपक्षीय बातचीत का हिस्सा है। हालांकि दूतावास ने यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच किन मुद्दों पर बातचीत होगी, इसके बारे में कोई भी जानकारी नहीं दी है। चीन के विदेश मंत्री से  इस बारे में सवाल किया गया कि क्या चीन भारत पर निचले स्तर के अधिकारियों का ओबीओआर फोरम में प्रतिनिधित्व करायेगा। इस पर उन्होंने कहा कि यदि भारत इस फोरम में हिस्सा नहीं भी लेता है, फिर भी दोनों देशों के बीच अच्छे संबंध बने रहेंगे।

बता दें कि चीन के बेल्ट एंड रोड फोरम की बैठक के न्योते को भारत ने ठुकरा दिया है जबकि पड़ोसी देशों मालदीव, श्री लंका, नेपाल और बांग्लादेश ने इसमें शामिल होने की हामी भर दी है। इस कार्यक्रम में 40 देशों के राष्ट्राध्यक्षों और सरकारों के सम्मिलित होने की उम्मीद की जा रही है।

गौरतलब है कि भारतीय दूतावास ने शनिवार को कहा था कि गोखले नियमित बातचीत के लिए चीन का दौरा करेंगे। उसने कहा कि गोखले 22 अप्रैल को चीन के स्टेट काउंसलर और विदेश मंत्री वांग यी से मिलेंगे। गोखले का यह दौरा चीन के बेल्ट एंड रोड फोरम (बीआरएफ) से ठीक पहले हो रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बहुत सी बीमारियों में फायदेमंद है यह जूस, इस तरह घर पर बनाएं

नई दिल्ली : आपका वजन बहुत ज्या दा बढ़ गया हो, जोड़ों में दर्द हो या कब्ज की समस्या हो इन सभी समस्याओं का समाधान आगे पढ़ें »

kamalnath

मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार ने दिया नसबंदी का टार्गेट

चौतरफा घिरने के बाद वापस लिया इंदौर. पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के समय जैसे जबरन नसबंदी की गई थी, कुछ उसी तर्ज पर मध्य प्रदेश में आगे पढ़ें »

ऊपर