भारतीय पेशवरों झटका: ट्रंप ने एच-1बी वीजा पर प्रतिबंध बढ़ाया

वाशिंगटन: अमेरिकी कामगारों की हित में एच-1बी वीजा के साथ ही अन्य विदेशी कार्यवीजा पर लगे प्रतिबंधों को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तीन महीनों के लिए बढ़ा दिया है। ट्रंप ने दलील दी है कि कोरोना का इलाज और वैक्सीन उपलब्ध है, लेकिन श्रम बाजार और सामुदायिक स्वास्थ्य पर महामारी का असर पूरी तरह खत्म नहीं हुआ है। इस फैसले से बड़ी संख्या में उन भारतीय आईटी पेशेवर और कई अमेरिकी तथा भारतीय कंपनियां प्रभावित होंगी, जिन्हें अमेरिकी सरकार ने एच-1बी वीजा जारी किया था। ट्रंप ने पिछले साल 22 अप्रैल और 22 जून विभिन्न श्रेणियों के कार्य वीजा पर प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया था। यह आदेश 31 दिसंबर को खत्म हो रहा था जिससे कुछ घंटों पहले ट्रंप ने गुरुवार को इसे 31 मार्च तक बढ़ाने की घोषणा करते हुए कहा कि जिन वजहों से ये प्रतिबंध लगाए गए थे, वे नहीं बदले हैं।
क्या है एच-1बी वीजा: मालूम हो कि एच-1बी वीजा एक गैर-अप्रवासी वीजा है, जो अमेरिकी कंपनियों को कुछ व्यवसायों के लिए विदेशी श्रमिकों को नियुक्त करने की इजाजत देता है, जहां सैद्धांतिक या तकनीकी विशेषज्ञता की आवश्यकता होती है। प्रौद्योगिकी कंपनियां भारत और चीन जैसे देशों से प्रत्येक वर्ष दसियों हजार कर्मचारियों को नियुक्त करने के लिए इस वीजा पर निर्भर हैं। इस फैसले से अपने एच-1बी वीजा के नवीनीकरण का इंतजार कर रहे भारतीय पेशवरों पर भी असर पड़ेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अगर करना भगवान गणेश को प्रसन्न तो करें ये उपाय, दूर होंगे सारे विघ्न

कोलकाता : भगवान गणेश की पूजा बुधवार की दिन की जाती है। ऐसी मान्यता है कि विघ्नहर्ता को प्रसन्न करने के लिए विधिवत और सच्चे आगे पढ़ें »

beaten

ब्रेकिंग : तृणमूल कांग्रेस के बूथ सभापति की पीट-पीटकर हत्या

बर्दवान : मंगलकोट विधानसभा क्षेत्र के बूथ नंबर 197 में भाजपा समर्थित उपद्रवियों ने तृणमूल कांग्रेस के बूथ सभापति की पीट-पीटकर हत्या कर दी।घटना की आगे पढ़ें »

ऊपर