भारतीय अर्थशास्त्री पवन सुखदेव को मिलेगा पर्यावरण का नोबेल पुरस्कार

संयुक्त राष्ट्रः भारतीय पर्यावरण अर्थशास्त्री और संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (यूएनईपी) के सदभावना दूत पवन सुखदेव को ‘हरित अर्थव्यवस्था’ पर अभूतपूर्व कार्य में अपना योगदान देने के लिए 2020 का टायलर पुरस्कार दिया जाएगा। इस पुरस्कार को पर्यावरण का नोबेल पुरस्कार माना जाता है। इसकी घोषणा सेमवार को की गई।
सुखदेव (59), संरक्षण जीवविज्ञानी ग्रेशन डेली के साथ यह पुरस्कार ग्रहण करेंगे। पर्यावरण को क्षति के आर्थिक परिणामों और नुकसान की ओर कॉरपोरेट एवं राजनीतिक नीति निर्माताओं का ध्यान आकृष्ट करने के उनके कार्य के लिए उन्हें यह पुरस्कार दिया जा रहा। दोनों लोग एक मई को यहां एक निजी कार्यक्रम में यह पुरस्कार ग्रहण करेंगे। प्रत्येक को एक स्वर्ण पदक दिया जाएगा और वे दो लाख रुपये की पुरस्कार राशि साझा करेंगे।

वर्ल्ड वाइल्डलाइफ फंड के प्रमुख के रूप में दे रहे सेवा
सुखदेव यूएनईपी की हरित अर्थव्यवस्था पहल के प्रमुख एवं विशेष सलाहकार रह चुके हैं। वह अभी वर्ल्ड वाइल्डलाइफ फंड के प्रमुख के रूप में सेवा दे रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘यह पुरस्कार समान रूप से यूएनईपी और जीवंत एवं सक्रिय ‘पारिस्थितिकी एवं जैव विविधता की अर्थव्यवस्था’ (टीईईबी) को मान्यता है।’’ टीईईबी यूएनईपी की मेजबानी वाला एक वैश्विक अध्ययन है। यह पुरस्कार यूनिवर्सिटी ऑफ साउथर्न कैलीफोर्निया द्वारा दिया जाता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

आरएसएस प्रमुख की समझदारी पर सोनम ने उठाए सवाल, हुईं ट्रोल

नई दिल्ली : आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत द्वारा तलाक को लेकर दिए गए बयान को फिल्म अभिनेत्री सोनम कपूर ने मूखर्तापूर्ण बताया है। सोनम ने आगे पढ़ें »

modis

मोदी और शाह को ‘आतंकवादी’ कहने पर मुस्लिम नेता के खिलाफ मामला दर्ज

सम्भल (उत्तर प्रदेश) : उत्तर प्रदेश में सम्भल जिले के नखासा क्षेत्र में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के विरोध में आगे पढ़ें »

ऊपर