ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने इस्तीफे की घोषणा की

लंदन : ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने शुक्रवार को घोषणा की कि वह 7 जून को कंजर्वेटिव नेता का पद छोड़ देंगी, इसके साथ ही ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री को लेकर कयासों का दौर भी शुरू हो गया है। यूरोपीय संघ से ब्रिटेन के अलग होने के लिये बदली हुई रणनीति को लेकर अपनी योजनाओं पर मंत्रियों का साथ पाने में विफल रहने के बाद उन्होंने यह कदम उठाया है। थेरेसा मे ने पीएम आवास से बयान जारी कर ब्रेग्जिट समझौता न करा पाने के लिए अफसोस जाताया।

अगले हफ्ते शुरू होगी प्रधानमंत्री चुनने की प्रक्रिया

थेरेसा ने बयान में कहा, “यह मेरे लिए काफी खेद का विषय रहेगा कि मैं ब्रेग्जिट समझौता करा पाने में सफल नहीं हो पाई। पार्टी का नया नेता चुनने की प्रक्रिया अगले हफ्ते से शुरू हो जाएगी।” नए नेता के जुलाई के अंत तक पद संभालने की उम्मीद है। खबरों के मुताबिक, ब्रिटेन में अब प्रधानमंत्री पद के लिए होड़ मच जाएगी। इस दौरान थेरेसा कार्यवाहक प्रधानमंत्री बनी रहेंगी।

भर आया गला

थेरेसा कहा, ‘‘हमारी राजनीति भले ही तनावपूर्ण रही हो लेकिन इस देश के बारे में काफी कुछ अच्छा है। काफी कुछ गर्व करने लायक है। कई चीजें हैं आशावादी होने के लिये।’’ मे ने कहा कि देश की दूसरी महिला प्रधानमंत्री के तौर पर काम करना मेरे लिये निश्चित रूप से जिंदगी भर के लिये एक सम्मान है लेकिन निश्चित रूप से यह आखिरी नहीं है। उन्होंने जब कहा कि जिस देश से आप प्यार करते हैं वहां के लोगों की सेवा करना एक सम्मान की बात है, तो उनका गला भर आया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कृषि क्षेत्र में बिहार का मॉडल सर्वश्रेष्ठ : जदयू

पटना : बिहार में सत्तारूढ़ जनता दल (यूनाइटेड) ने शुक्रवार को दावा किया कि कृषि क्षेत्र में राज्य का मॉडल सर्वश्रेष्ठ है। जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन आगे पढ़ें »

The country has changed, good days have come: JP Nadda

जेपी नड्डा का शनिवार को बिहार दौरा 

पटना : भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभालने के बाद पहली बार शनिवार को बिहार के एक दिवसीय दौरे पर आ रहे आगे पढ़ें »

ऊपर