बेरूत धमाके को लेकर लेबनान सरकार ने दिया इस्तीफा

बेरूत : लेबनान की राजधानी बेरूत में पिछले सप्ताह हुए धमाके को लेकर मंत्रिमंडल ने इस्तीफा दे दिया है। कई मंत्रियों के इस्तीफे और कुछ मंत्रियों के पद से हटने की इच्छा जाहिर करने के बाद बने दबाब में यह फैसला किया गया। मंत्रिमंडल की बैठक के बाद स्वास्थ्य मंत्री हमाद हसन ने सोमवार को इस बारे में संवाददाताओं को बताया। धमाके के विरोध में बेरूत में पिछले दो दिन में प्रदर्शनकारियों और सुरक्षा बलों के बीच झड़प हुई है। हमाद ने कहा, ‘‘समूची सरकार ने इस्तीफा दे दिया है।’’ साथ ही उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री हसन दियाब राष्ट्रपति भवन में सभी मंत्रियों का इस्तीफा सौंप देंगे। गौरतलब है कि गत 4 अगस्त को हुए विस्फोट में 160 लोगों की मौत हुई थी और लगभग छह हजार लोग घायल हुए थे। इसके अलावा देश का मुख्य बंदरगाह नष्ट हो गया था और राजधानी के बड़े हिस्से को नुकसान हुआ था। माना जाता है कि भंडार में रखे गए 2750 टन अमोनियम नाइट्रेट में आग लगने से विस्फोट हुआ। बंदरगाह के पास भंडार घर में इसे 2013 से ही संग्रहित कर रखा गया था। विस्फोट से 10 अरब डॉलर से लेकर 15 अरब डॉलर के नुकसान की आशंका व्यक्त की गयी है और धमाके के बाद करीब तीन लाख लोग बेघर हो गए।
नयी सरकार के गठन होने तक मंत्रिमंडल कार्यवाहक भूमिका निभाएगा
प्रधानमंत्री दियाब के सोमवार को राष्ट्र को संबोधित करने की संभावना है। नयी सरकार के गठन होने तक मंत्रिमंडल कार्यवाहक भूमिका में अपना काम करेगा। इस बीच, देश के एक न्यायाधीश ने सोमवार को सुरक्षा एजेंसियों के प्रमुखों से पूछताछ शुरू की। न्यायाधीश गस्सान एल खोरी ने सुरक्षा प्रमुख मेजर जनरल टोनी सलीबा से पूछताछ शुरू की। इस संबंध में कोई विस्तृत जानकारी नहीं दी गई है और अन्य जनरलों से भी पूछताछ होनी है। सरकारी अधिकारियों के अनुसार धमाके के सिलसिले में लगभग 20 लोगों को हिरासत में लिया गया है, जिनमें लेबनान के सीमा-शुल्क विभाग का प्रमुख भी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि दो पूर्व कैबिनेट मंत्रियों समेत कई लोगों से पूछताछ की गई है।
दियाब ने इस धमाके का जिम्मेदार भ्रष्टाचारी नेताओं को ठहराया
बता दें कि बेरूत में पिछले सप्ताह बंदरगाह पर हुए धमाके और इसके बाद जनता में भड़के गुस्से एवं प्रदर्शनों के मद्देनजर लेबनान के प्रधानमंत्री हसन दियाब ने सोमवार को पद से इस्तीफा देने की घोषणा की। इससे कुछ देर पहले दियाब के मंत्रिमंडल ने भी इस्तीफा दे दिया था। टीवी पर सोमवार को प्रसारित अपने संक्षिप्त भाषण में दियाब ने कहा कि वह ”एक कदम पीछे” जा रहे हैं ताकि वह लोगों के साथ खड़े होकर बदलाव की लड़ाई लड़ सके। उन्होंने कहा, ” मैंने आज इस सरकार से इस्तीफे का निर्णय लिया है। ईश्वर लेबनान की रक्षा करे।” दियाब ने 4 अगस्त को बेरूत के बंदरगाह पर हुए जबरदस्त धमाके के लिए कथित भ्रष्टाचारी नेताओं को जिम्मेदार ठहराया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मरीज था वेंटिलेटर पर, मिनरल वाटर का भी बनाया बिल

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः ढाकुरिया स्थित एक निजी हॉस्पिटल में भर्ती 74 साल के मरीज के परिजनों ने वेस्ट बंगाल क्लिनिकल इस्टेब्लिशमेंट रेग्युलेटरी कमिशन में अधिक बिल आगे पढ़ें »

सोशल मीडिया के जरिये आज राजीव करेंगे ‘मन की बात’

सोशल मीडिया पर राजीव के समर्थक दे रहे हैं सुझाव, सोच-समझ कर निर्णय करें हावड़ा : राज्य के मंत्री राजीव बनर्जी आज फेसबुक लाइव होनेवाले हैं। आगे पढ़ें »

ऊपर