बढ़ते तलाक के बाद सजग हुई मिस्र की सरकार, इस पर लगाम कसने के लिए शुरू की प्रशिक्षण कार्यक्रम

मिस्र की विश्वविद्यालय छात्रों को सिखा रही कि शादी के बाद गृहस्‍थी कैसे संभालें


काहिराः
मिस्र की विश्वविद्यालय छात्रों को शादी के बाद की जिंदगी व हालातों का सामना करने के लिए प्रशिक्षण दे रही है। दरअसल, मिस्र में एक साल में तलाक के 1.98 लाख मामले सामने आए हैं। इसको लेकर अब यहां की सरकार काफी सजग हो गई है। उनका मकसद इसमें कमी लाना है। इसलिए उसने विश्वविद्यालय में इस तरह की प्रशिक्षण दे रही है।
सरकारी आंकड़ों के मुताबिक 2017 में मिस्र में तलाक के 1.98 लाख मामले सामने आए। यह 2016 के मुकाबले 3.2% ज्यादा हैं। सरकार का लक्ष्य 2020 तक 8 लाख छात्रों को ट्रेनिंग देना है। वह चाहती है कि छात्र ग्रेजुएशन की पढ़ाई के दौरान किसी साल यह ट्रेनिंग पूरी कर लें। विश्वविद्यालय की यह ट्रेनिंग छात्रों के लिए अनिवार्य करने की तैयारी में भी है।
शिक्षकों ने दी सलाह
नाटक देखने के बाद छात्रों और शिक्षकों ने कहा कि पति को घर के अधिक काम करने चाहिए। शिक्षिका सलाहा अहमद कहती हैं कि घर में भी काम करना पति की जिम्मेदारी है। पत्नी को भी अधिक समझ होनी चाहिए। वह ऑफिस से घर लौटे पति की पहले चिंता करे, न कि घर के फर्श और दीवारों की। दरअसल, यूनिवर्सिटी सरकार के प्रोजेक्ट पर काम कर रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

क्या सच में आज रात आ रहा है विजय माल्या भारत ?

नयी दिल्ली : देश के 17 बैंकों का 9 हजार करोड़ रुपये गबन कर भागे विजय माल्या के आज रात किसी भी वक्त भारत में आगे पढ़ें »

corona

बंगाल में कल से आज कुछ कम आए संक्रमण के मामले

कोलकाता : बंगाल में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के मंगलवार की तुलना में आज (बुधवार) को 340 मामले आए है जबकि मंगलवार आगे पढ़ें »

ऊपर