धमाकों से पहले भारत ने भेजा था अलर्ट, अफसरों ने मुझे नहीं बताया- श्रीलंकाई राष्ट्रपति

कोलंबोः श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने कहा कि, भारत ने ईस्टर के मौके पर हुए सिलसिलेवार धमाकों का अलर्ट करीब 15 दिन पहले ही भेज दिया था, लेकिन हमारे अधिकारियों ने यह जानकारी हमें नहीं दी। इसी वजह से मैंने अपने रक्षा सचिव और पुलिस महानिरीक्षक को बर्खास्त कर दिया। गौरतलब है कि 21 अप्रैल को श्रीलंका में 8 धमाके हुए थे, इनमें करीब 250 लोगों की जान गई थी। इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन आईएस ली थी।

आतंकियों के भारत से संबंध का कोई सबूत नहीं

सिरिसेना ने कहा कि आतंकियों के भारत से संबंध होने के कोई सबूत अभी तक नहीं मिले। हालांकि, मई में श्रीलंका के सेना प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल महेश सेनानायक ने कहा था कि ईस्टर धमाके से पहले आतंकी ट्रेनिंग और अन्य गतिविधियों के लिए भारत गए थे। वे ट्रेनिंग के दौरान कश्मीर, केरल और बेंगलुरु गए थे, इसकी जानकारी उन्हें मिली है। लेकिन, राष्ट्रपति सिरिसेना ने कहा कि उन्हें इस बारे में कोई सूचना नहीं मिली।

सिरिसेना 30 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने दिल्ली पहुंचे थे। उन्होंने बताया कि हमले के समय वे सिंगापुर में थे। भारत की खुफिया एजेंसियों ने 4 अप्रैल को हमले का अलर्ट भेजा था और इस विषय पर रक्षा सचिव और पुलिस महानिरीक्षक के बीच पत्राचार भी हुआ था। उन्होंने यह भी कहा कि धमाकों की जांच में भारत, ब्रिटेन और अमेरिका ने उनका सहयोग किया। जांच के दौरान पता चला कि हमलावर अंतरराष्ट्रीय संगठन से जुड़े थे तथा आतंकियों को उन देशों में प्रशिक्षण दिया गया, जहां अंतरराष्ट्रीय आतंकी समूह सक्रिय हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टेनिस स्टार कोको गॉफ ने नस्लवाद का विरोध जताया

न्‍यूयार्क : सबसे कम उम्र में विंबलडन के लिए क्वालिफाई करने वाली अमेरिका की टेनिस स्टार कोको गॉफ ने नस्लवाद के खिलाफ विरोध जताया है। आगे पढ़ें »

खेल रत्‍न के लिए रोहित शर्मा और अर्जुन पुरस्‍कार के लिए की धवन के नाम की सिफारिश

नयी दिल्ली : पिछले साल एक दिवसीय विश्व कप में पांच शतक लगाने के साथ शानदार प्रदर्शन करने वाले भारतीय उपकप्तान रोहित शर्मा की बीसीसीआई आगे पढ़ें »

ऊपर