दो साल बाद एक साथ बैठे उत्तर व दक्षिण कोरिया, ओलंपिक में भाग लेने पर हुई बातचीत

सोल : उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार कार्यक्रम को लेकर पिछले कुछ महीनों से जारी तनाव के बीच उत्तर और दक्षिण कोरिया ने दो साल से अधिक समय बाद मंगलवार को अपनी पहली आधिकारिक वार्ता की जिसमें उत्तर कोरिया ने आगामी शीतकालीन ओलंपिक में एथलीट और एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल भेजने का प्रस्ताव रखा।
प्रायद्वीप को विभाजित करने वाले क्षेत्र में स्थित संघर्ष विराम गांव पनमुनजोम में दोनो देशों के बीच बातचीत हुई। उत्तर कोरिया का समूह सैन्य सीमांकन रेखा पर चलकर दक्षिण कोरिया स्थित पीस हाउस परिसर पहुंचा। दक्षिण कोरिया के एकीकरण मंत्री चो म्योंग ज्ञों और उत्तर कोरिया के मुख्य प्रतिनिधि री सोन ग्वोन ने पीस हाउस के प्रवेश पर और बाद में वार्ता की मेज पर एक दूसरे से हाथ मिलाया। दक्षिण कोरिया के उप एकीकरण मंत्री चुन हाए सुंग ने बताया कि उत्तर कोरिया के अपने एथलीटों के अलावा एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल, समर्थकों, कलाकारों और तायकांडो टीम को खेलों में भेजने का प्रस्ताव रखा है। उत्तर कोरिया के री ने कहा, आइए लोगों को नववर्ष का कीमती तोहफा दें। बैठक का माहौल पिछली बैठकों के मुकाबले अधिक मित्रवत था और चो ने री को बताया कि दक्षिण कोरिया का मानना है कि दुनिया भर के अन्य मेहमानों के साथ उत्तर कोरिया से आए अतिथि इसका हिस्सा होंगे। दोनों देशों का यह रुख पिछले महीनों में हुई बयानबाजी से काफी अलग है। पिछले कुछ समय में किम और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक दूसरे के खिलाफ बयान दिए हैं। उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने नववर्ष के अपने भाषण में संकेत दिया था कि उनका देश शीतकालीन खेलों में भाग ले सकता है जिसके बाद दक्षिण कोरिया ने उच्च स्तरीय वार्ता का प्रस्ताव पेश किया था। जिन मामलों पर अभी सहमति बननी बाकी है, उनमें उद्घाटन एवं समापन समारोहों में संयुक्त प्रवेश, प्रतिनिधिमंडल का आकार और उसके ठहरने की व्यवस्था जैसे कई मामले शामिल हैं। शीतकालीन खेलों के लिए उत्तर कोरिया के केवल दो खिलाड़ियों ने क्वालीफाई किया है, लेकिन दक्षिण कोरिया में पूर्ववर्ती तीन अंतरराष्ट्रीय खेल समारोहों में उत्तर कोरिया की सैकड़ों युवा चीयरलीडर्स चर्चा का विषय रहीं थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

piolet

हवाईअड्डे पर पकड़ा गया फर्जी पायलट, इतनी बार कर चुका है यात्रा

नई दिल्ली : दिल्ली पुलिस ने इंदिरा गांधी अतंरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से एक फर्जी पायलट को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी के पास से आगे पढ़ें »

शुल्क वृद्धि के मुद्दे पर जेएनयू में हुई बैठक, बढ़ाई गई फीस पूरी तरह वापस लेने की मांग

नयी दिल्ली : जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्रसंघ (जेएनयूएसयू) के पदाधिकारियों और मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा गठित उच्चाधिकार प्राप्त समिति के बीच बुधवार को आगे पढ़ें »

ऊपर