डोनाल्ड ट्रंप राष्ट्रीय आपातकाल का करेंगे ऐलान

वाशिंगटन: अमेरिका-मेक्सिको सीमा दीवार के लिए आर्थिक सहायता की मांग को सांसदों द्वारा खारिज किए जाने की स्थिति में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप शुक्रवार को राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा करेंगे। इसके लिए ट्रंप एक कार्यकारी आदेश पर हस्‍ताक्षर करेंगे। इस आपातकाल का लक्ष्‍य अमेरिका-मैक्सिको सीमा पर दीवार के निर्माण में निधि को हासिल करना है। वहीं दूसरी ओर ट्रंप के इस कदम से अमेरिका की सियासत गरमा सकती है। मालूम हो कि पिछले दिनों सीमा पर दीवार बनाने के लिए वित्तीय व्यवस्‍था करने की उनकी मांग पर विपक्षी डेमोक्रेट्स सहमत नहीं हुए थेट्रंप के इस कदम से दीवार के निर्माण के लिए 5.6 बिलियन अमरीकी डालर प्राप्त करने में मदद मिलेगी। दरअसल, अमेरिका में आपातकाल की घोषणा के बाद समस्‍त शक्तियां राष्‍ट्रपति में निहित हो जाती हैं। आपातकाल में समस्‍त वित्‍तीय शक्तियां भी राष्‍ट्रपति को प्राप्‍त हो जाती है। जाहिर है कि राष्‍ट्रपति की वित्‍तीय सहायता के लिए कांग्रेस के समर्थन की जरूरत नहीं होगी। वह आसानी से इसके लिए निधि हालिस कर लेंगे। बता दें कि ट्रंप ने मैक्सिको सीमा पर इस दीवार को राष्‍ट्रीय सुरक्षा के लिए जरूरी कदम बताते आए हैं। इसका मकसद अवैध आप्रवासियों को देश में प्रवेश से रोकने और नशीली दवाओं पर अंकुश लगाना है।

आपातकाल का मकसद राष्‍ट्रीय सुरक्षा और मानवीय संकट से देश को उबारना है
व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सैंडर्स सारा ने कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप इस धन विधेयक पर हस्ताक्षर करेंगे। इसके पूर्व ट्रंप राष्‍ट्रीय आपातकाल के ओदश पर हस्‍ताक्षर करेंगे। सारा ने कहा कि इस आपातकाल का मकसद राष्‍ट्रीय सुरक्षा और मानवीय संकट से देश को उबारना है। प्रेस सचिव ने कहा कि राष्‍ट्रपति चुनाव के वक्‍त ट्रंप ने अपनी देश की सुरक्षा के लिए जो वचन दिए थे, वह अपने संकल्‍प पर कायम हैं। सीनेट के प्रमुख नेता मिच मैककोनेल के इस कदम को सार्वजनिक करने के तुरंत बाद व्हाइट हाउस का बयान आया।

विपक्ष ने ट्रंप को घेरा, सर्वोच्च अदालत में देंगे चुनौती
राष्‍ट्रपति के इस कदम को लेकर विपक्ष की तीखी प्रतिक्रिया आई है। डेमोक्रेट्स ने कहा कि वह ट्रंप के इस कदम को सर्वोच्‍च अदालत में चुनौती देंगे। सीनेट के अल्पसंख्यक नेता चक शूमर और हाउस की स्पीकर नैंसी पेलोसी ने कहा कि राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा करना एक निरर्थक और कानूनविहीन कार्य है। यह राष्ट्रपति पद की शक्ति का घोर दुरुपयोग है। विपक्ष ने कहा है कि ट्रंप को यह एक हताशा भरा कदम है। विपक्ष की इस प्रतिक्रिया पर सैंडर्स ने कहा कि हम किसी भी कानूनी चुनौतियों के लिए तैयार हैं। सैंडर्स ने कहा कि राष्‍ट्रपति अपना काम कर रहे हैं और कांग्रेस को अपना काम करना च‍ाहिए।

आपातकाल लगाने की दी थी धमकी 
जनवरी के प्रथम हफ्ते वरिष्ठ डेमोक्रेट सांसदों से मुलाकात के बाद ट्रंप ने ये धमकी दी थी वह संसद की मंजूरी के बिना मेक्सिको सीमा पर दीवार खड़ी करने के लिए राष्ट्रीय आपातकाल घोषित कर सकते हैं। तब उन्‍होंने डेमोक्रेट सांसदों से मेक्सिको सीमा पर दीवार खड़ी करने लिए फंड को मंजूरी देने की गुजारिश की थी। ट्रंप के इस कदम को, सरकार को दीवार बनाने के लिए जरूरी धन जारी करने के लिए विपक्ष पर दबाव बनाने की रणनीति के रूप में देखा जा रहा है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

अभी नहीं चलेंगी निजी बसें

कोलकाता : 1 जून से लॉकडाउन खुलने की शुरुआत हो जाएगी और 8 से काफी हद तक राहत मिल जाएगी, लेकिन बंगाल के लोगों के आगे पढ़ें »

तकनीक ने बदल दिया बीएफएसआई सेक्टर की भूमिका

नई दिल्ली : लंबे समय से भारत औपचारिक अर्थव्यवस्था के दायरे का विस्तार करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है। तकनीक के प्रवाह ने आगे पढ़ें »

ऊपर