डगलस स्टुअर्ट के उपन्यास ‘शग्गी बैन’ को 2020 का बुकर पुरस्कार

लंदन: अमेरिका के न्यूयॉर्क में बसे स्कॉटलैंड के लेखक डगलस स्टुअर्ट (44) को उनके पहले उपन्यास ‘शग्गी बैन’ के लिए 2020 का बुकर पुरस्कार मिला है। ‘शग्गी बैन’ की कथावस्तु 1980 के दशक के स्कॉटिश शहर ग्लासगो में गरीबी और शराब की लत से जूझती एक मां को उसके बेटे द्वारा संभालने की कोशिश पर आधारित है। कुल छह लोगों के उपन्यास नामित थे, जिनमें दुबई में बसी भारतीय मूल की लेखिका अवनी दोशी शामिल हैं, जिनका पहला उपन्यास ‘बर्न्ट शुगर’ भी इस श्रेणी में नामित था।
स्टुअर्ट (44) ने कहा कि मुझे विश्वास नहीं हो रहा। शग्गी एक काल्पनिक किताब है लेकिन किताब लिखना मेरे लिए बेहद सुखद रहा। यह किताब मैंने अपनी मां को समर्पित की है। मैं जब 16 साल का था तब मेरी मां का निधन अत्यधिक शराब पीने की वजह से हो गया था। मैं हमेशा से एक लेखक बनना चाहता था इसलिए यह एक सपने पूरा होने जैसा है।
स्टुअर्ट लंदन के ‘रॉयल कॉलेज ऑफ आर्ट इन लंडन’ से स्नातक करने के बाद ‘फैशन डिजाइन’ में करियर बनाने न्यूयॉर्क चले गये थे। स्टुअर्ट ने केल्विन क्लेन, राल्फ लॉरेन और गैप सहित विभिन्न ब्रांडों के लिए काम किया है। उन्होंने यह किताब एक दशक पहले अपने खाली समय में लिखना शुरू किया था।
कोविड-19 के मद्देनजर ‘बुकर प्राइज 2020’ के समारोह को लंदन के ‘राउंडहाउस’ से प्रसारित किया गया, जिसमें सभी छह नामित लेखक एक विशेष स्क्रीन के जरिए समारोह में शामिल हुए। इस मौके पर अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भी बुकर पुरस्कार प्राप्त उपन्यासों पर अपने विचार व्यक्त किए। 2020 बुकर पुरस्कार निर्णायक पैनल की अध्यक्षता साहित्यिक, आलोचक और पूर्व प्रकाशक मार्गरेट बसबी ने की। पैनल में लेखक ली चाइल्ड, समीर रहीम और प्रसारक लेमन सिसे और अनुवादक एमिली विल्सन शामिल थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टी-20 में ऑस्ट्रेलिया को कड़ी चुनौती देगा भारत, ऑस्ट्रेलिया में 12 साल से सीरीज नहीं हारी टीम इंडिया

कैनबरा : एक दिवसीय श्रृंखला में विकल्पों की कमी के कारण मिली हार के बाद भारतीय क्रिकेट टीम शुक्रवार से शुरू हो रही तीन मैचों आगे पढ़ें »

रेसलिंग वर्ल्ड कप में उतरेंगे भारत के 24 पहलवान

नयी दिल्ली : कोरोना के बीच सर्बिया के बेलग्रेड में 12 से 18 दिसंबर के बीच इंडिविजुअल रेसलिंग वर्ल्ड कप खेला जाएगा। इसमें दीपक पुनिया, आगे पढ़ें »

ऊपर