‘ओवरटाइम को अनिवार्य करना जैक मा के घमंड की निशानी’

बीजींग : अलीबाबा ग्रुप के संस्‍थापक जैक मा के ओवरटाइम का समर्थन करने से चीन में विवादो का दौर शुरू हो गया है। निजी जिंदगी और नौकरी में तालमेल को लेकर बहस छिड़ गई है। वहां की सत्‍ताधारी कम्यूनिस्ट पार्टी के अखबार पीपुल्स डेली ने जैक के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए अपने संपादकीय में लिखा है कि ओवरटाइम को जरूरी करना प्रबंधन के अहम को दर्शाता है। यह सिर्फ कर्मचारियों के सा‌थ अन्याय और अव्यावहारिक है। 

सोशल मीडिया पर छिड़ा जंग

जैक मा ने पिछले हफ्ते कहा था कि उनकी कंपनी में नौकरी करने के लिए 12 घंटे काम करना जरूरी है। उन्हें 8 घंटे काम करने की सोच रखने वालों की जरूरत नहीं है। चीन के सबसे अमीर आदमी के बयान पर सोशल मीडिया पर भी जंग शुरू हो गई है। कुछ लोग चीन की मंद अर्थव्ययस्‍था का हवाला देते हुए इसके समर्थन में है तो कुछ लोग इस बयान की निंदा कर रहे है।

निंदा करने वालों को मा की सीख

जैक मा का बयान चीन में लगातार चर्चा का विषय बन गया है। इस बयान को लेकर विवाद बढ़ता ही जा रहा है। वहीं निंदा करने वालों को जैक ने सीख देते हुए कहा है कि काम करने में खुशी मिलनी चाहिए। आपके काम में ही अध्ययन के लिए समय होना चाहिए और खुद को इम्प्रूव करना चाहिए।

बता दें कि पिछले कुछ महीनों से चीन में ओवरटाइम करवाने का मुद्दा चर्चाओं में है। ऐसी शिकायतें मिल रही हैं कि काम के लंबे घंटों की वजह से वहां जन्म दर कम है। कुछ कंपनियों के अधिकारियों की अचानक मौत होने की घटनाओं को भी ओवरटाइम से जोड़ा जा रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

लोगों को मेरे खेल के खत्म होने के बारे में लिखने की आदत है, मुझे फर्क नहीं : सुशील

नयी दिल्ली : दिग्गज पहलवान सुशील कुमार उम्र के ऐसे पड़ाव पर है जहां ज्यादातर खिलाड़ी संन्यास की घोषणा कर देते है लेकिन ओलंपिक में आगे पढ़ें »

कोरोना से हुए नुकसान को कम करने के लिए सरकार जल्द नए राहत पैकेजों की घोषणा करेगी

नई दिल्ली : कोरोना के कारण हुए लॉक डाउन के कारण देश की अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान हुआ है। वित्त मंत्रालय लगातार राहत पैकेज पर आगे पढ़ें »

ऊपर