जान बचाकर हांगकांग से अमेरिका पहुंचीं चीनी साइंटिस्ट, किया बड़ा खुलासा

बीजिंग : विश्वभर में महामारी का रूप धारण कर चुके कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर विश्व से सच छुपाने को लेकर चीन फिर बेनकाब हुआ है। हांगकांग से जान बचाकर अमेरिका पहुंचीं एक वैज्ञानिक ने खुलासा किया है कि कोरोना वायरस को लेकर चीन उससे काफी पहले से जानता था, जब इसने दुनिया को बताई। यह सरकार के सर्वोच्च स्तर पर किया गया। हांग-कांग स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ में वायरोलॉजी और इम्यूनोलॉजी की विशेषज्ञ लि-मेंग यान ने एक  साक्षात्कार में कई बड़ी बातें कहीं। उन्होंने कहा कि महामारी की शुरुआत में उनकी रिसर्च को उनके सुपरवाइजर्स ने भी अनदेखा कर दिया, जोकि इस क्षेत्र के विश्व के शीर्ष विशेषज्ञ हैं। वह मानती हैं कि इससे लोगों की जिंदगी बचाई जा सकती थी।

विशेषज्ञों को शामिल से किया इनकार

यान कहती हैं कि कोरोना वायरस संक्रमण पर स्टडी करने वाली वह विश्व के पहले कुछ वैज्ञानिकों में से एक थीं। उन्होंने कहा, ‘चीन सरकार ने विदेशी और यहां तक की हांगकांग के विशेषज्ञों को शोध में शामिल करने से मना कर दिया।’

डॉक्टर और शोधकर्ता को चुप करा दिया गया

उन्होंने  कहा कि बहुत जल्द पूरे चीन के उनके साथियों ने इस वायरस पर चर्चा की लेकिन जल्द ही उन्होंने टोन में बदलाव को नोटिस किया। डॉक्टर और शोधकर्ता जो खुले रूप से वायरस पर चर्चा कर रहे थे अचानक चुप कर दिए गए। वुहान के डॉक्टरों और शोधकर्ताओं ने चुप्पी साध ली है और दूसरों को चेतवानी दी गई कि उनसे ब्योरा ना मांगें। यान के अनुसार डॉक्टरों ने कहा कि हम इसके बारे में बात नहीं कर सकते हैं, लेकिन मास्क पहनने की आवश्यकता है।

पकड़ी जातीं तो गायब कर दी जातीं

यान ने कैंपस में लगे कैमरों और सेंसर से बचते हुए केवल पासपोर्ट और पर्स लेकर वहां से भागीं हूं। यदि मैं पकड़ी जातीं तो जेल में डाल दी जातीं या गायब कर दी जातीं। यान ने बताया कि हांगकांग सरकार ने गृहनगर में उनके छोटे से अपार्टमेंट को तोड़ दिया और उसके माता-पिता से पूछताछ की। अब भी मेरी जान को खतरा है। अब दोबारा कभी घर जाकर दोस्तों और परिवार से नहीं मिल पाउंगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

लगभग पांच महीने के बाद स्क्वाश खिलाड़ियों ने शुरू किया अभ्यास

चेन्नई : भारत की शीर्ष महिला स्क्वाश खिलाड़ी जोशना चिनप्पा ने कोविड-19 महामारी के कारण लगभग पांच महीने के बाद सोमवार को भारतीय स्क्वाश अकादमी आगे पढ़ें »

थॉमस और उबेर कप बैडमिंटन फाइनल्स में भारत को मिला आसान ड्रा

नयी दिल्ली : भारत को डेनमार्क के आरहूस में तीन से 11 अक्टूबर तक होने वाले थॉमस और उबेर कप बैडमिंटन फाइनल्स में आसान ड्रा आगे पढ़ें »

ऊपर