जरदारी ने इमरान सरकार को हटाने का लिया संकल्प, महंगाई व बेरोजगारी मुद्दे पर घेरा

इस्लामाबादः पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी ने इमरान सरकार को हटाने का संकल्प लिया है। उन्होंने उन्हें घेरने के लिए महंगाई और बेरोजगारी का मुद्दा उठाते हुए उन पर आरोप लगाया। जरदारी ने कहा, ‘‘यदि प्रधानमंत्री को जल्द हटाया नहीं जाता है तो वह देश को ऐसी स्थिति में ले जाएंगे जहां से हमारे लिए भी देश को चलाना मुमकिन नहीं होगा।’’ जरदारी ने सिंध के दौलतपुर प्रांत में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘मैं सत्ता का भूखा नहीं हूं लेकिन मौजूदा सरकार को वापस भेज देना चाहिए। अन्यथा, अधिकतर लोगों का जीवन दुखदायी हो जाएगा।’’
उन्होंने कहा कि उनकी पाकिस्तान पीपल्स पार्टी ने हमेशा लोगों की सेवा की है क्योंकि यही ‘‘हमारा घोषणा पत्र है और हम लोगों के दरवाजे पर जाकर उनकी सेवा करने में यकीन रखते हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ईद के तुरंत बाद हम अपनी योजनाओं की घोषणा करेंगे और यह समाप्ति की शुरुआत का संकेत होगा।’’ जरदारी ने कहा कि मौजूदा सरकार ने लोगों की नौकरियां छीन लीं हैं और महंगाई आसमान छूने लगी है। उन्होंने कहा कि बेरोजगारी और महंगाई 500 प्रतिशत तक बढ़ गई है। उन्होंने कहा कि मौजूदा प्रधानमंत्री को पाकिस्तान के लोगों पर जबरन थोपा गया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मरकज में तबलीगी जमात में शामिल हुए बंगाल के 71 लोगों की पहचान कर ली गई है : ममता 

कोलकाता : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी  ने बुधवार को बताया कि कुल 71 लोग  बंगाल से निजामुद्दीन मरकज में शामिल होने के लिए आगे पढ़ें »

ममता ने प्रधानमंत्री को लिखा पत्र, मांगी 25 हजार करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता

कोलकाता : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बुधवार को पत्र लिखकर 25,000 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता मांगी है आगे पढ़ें »

ऊपर