चीन ने मोदी को बताया अच्छा मित्र, कहा- बिश्केक में शी से हो सकती है बातचीत

बीजिंग : चीन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग को अच्छा मित्र बताया है। साथ ही आशा जताई है कि दोनों नेता बिश्केक में होने वाली मुलाकात के दौरान अमेरिका के साथ अपने-अपने व्यापार संघर्ष को लेकर बातचीत कर सकते हैं। चीन ने यह भी कहा है कि वे अमेरिका के व्यापार संरक्षणवाद के खिलाफ आम सहमति पर पहुंच सकते हैं। पिछले साल दोनों नेताओं के बीच चीन के वुहान में 27-28 अप्रैल को अनौपचारिक शिखर सम्मेलन के दौरान मुलाकात हुई थी।
शी और मोदी अच्छे मित्र
चीन के उप विदेश मंत्री झांग हानहुई ने एक प्रेस वार्ता में मोदी-शी की मुलाकात के सवाल पर कहा कि “हम एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बधाई देते हैं। राष्ट्रपति शी और प्रधानमंत्री मोदी अच्छे मित्र हैं। पिछले साल दोनों की वुहान में सफल अनौपचारिक बैठक हुई थी।”
द्विपक्षीय बैठक काफी महत्वपूर्ण
हानहुई ने बिश्केक में होने वाली बैठक के बारे में कहा कि “बैठक के मुद्दों को लेकर विचार-विमर्श जारी है।” उन्होंने कहा कि “मेरा मानना है कि राष्ट्रपति शी और प्रधानमंत्री मोदी के बीच होने वाली द्विपक्षीय बैठक काफी महत्वपूर्ण है।” साथ ही यह भी कहा कि “चीन की तरफ से हम इसके सफल होने की पूरी तैयारी करेंगे।” उन्होंने चीन-अमेरिका व्यापार युद्ध और अमेरिका-भारत के बीच उभर रहे व्यापार तनाव को लेकर दोनों नेताओं के बीच अहम बातचीत की संभावना भी व्यक्त की है।

बता  दें कि दोनों नेताओं के बीच होने वाली बैठक को महत्वपूर्ण माना जा रहा है। ऐसा इसलिए है क्योंकि मोदी का दूसरा कार्यकाल शुरू होने के बाद यह दोनों नेता पहली बार मुलाकात करेंगे। मालूम हो कि 23 मई को लोकसभा चुनाव परिणाम आने के बाद शी ने एक पत्र भेज कर मोदी को बधाई दी थी।

गौरतलब है कि दोनों नेताओं की इस हफ्ते बिश्केक में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के सम्मेलन से इतर अंतरराष्ट्रीय और द्विपक्षीय मसलों पर एक महत्वपूर्ण बैठक होनी है। इस साल का एससीओ सम्मेलन किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में 13 और 14 जून को होना है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कंटेनमेंट जोन : नहीं मानी बात तो बिगड़ सकते हैं हालात

हावड़ा : हावड़ा में कोरोना का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। इसी लिए हावड़ा में कंटेनमेंट जोन की संख्या भी बढ़ रही है। वर्तमान आगे पढ़ें »

राम मंदिर भूमि पूजन प्रशासन ने जारी किए ये खास निर्देश

अयोध्या: अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के पहले पूरी व्यवस्था चाक-चौबंद है और आधिकारियों को भी इसके लिए दिशा-निर्देश दिए जा चुके हैं। मंदिर परिसर आगे पढ़ें »

अब तक 25,000 लावारिस शवों का अंतिम संस्कार कर चुके शरीफ चाचा को मिला शिलान्यास कार्यक्रम का निमंत्रण

ट्रंप ने भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी पेशेवरों को दिया बड़ा झटका, एच-1बी वीजा आदेश पर किए हस्ताक्षर

राम मंदिर निर्माण की प्रतीक्षा में उर्मिला चतुर्वेदी ने 28 साल से नहीं खाया अन्न

सोमवार से ही शुरू हो गई अयोध्या में पूजा, आज हुआ हनुमानगढ़ी में निशान पूजन,कल पीएम मोदी लेंगे संकल्प

school scam

कोविड-19 : 2.38 करोड़ बच्चे अगले साल छोड़ सकते हैं स्कूल की पढ़ाई : गुतारेस

त्वचा को बनाएं निखरा-निखरा

आप की दिल्ली इकाई का होगा पुनर्गठन : गोपाल राय

सीएम के निर्देश के बावजूद कोरोना संक्रमित शवों को जलाने में लग रहे हैं कई दिन

ऊपर