चीन डोकलाम के पास तैनात किया परमाणु बमवर्षक और क्रूज मिसाइल

पेइचिंग : डोकलाम पर भारत और चीन के बीच शुरु हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। चालबाज चीन ने एक बार फिर भारत के खिलाफ अपने खतरनाक चाल को चलने की फिराक में है। जिस तरह चीन लगातार भारत से सटे अपने इलाके में रक्षा तैयारियों को मजबूत करने में लगा हुआ है उसने भारत की सुरक्षा चिंता को बढ़ा दिया है। दरअसल, चीन बेहद गुपचुप तरीके से खतरनाक हथियारों और मिसाईलों की तैनाती भारतीय सीमा के नजदीक करने में लगा हुआ है। लद्दाख में पहले ही हजारों सैनिकों की तैनाती कर चुका चीन अब भारत के पूर्वी हिस्‍से में तनाव का नया मोर्चा खोल रहा है। उसने भूटान से लगे डोकलाम के पास में अपने एच -6 परमाणु बमवर्षक और क्रूज मिसाइल को तैनात कर दिया है। चीन इन विनाशकारी हथियारों की तैनाती अपने गोलमुड एयरबेस पर कर रहा है जो भारतीय सीमा से केवल 1150 किलोमीटर दूर है।

परमाणु हमला करने में सक्षम है चीनी एच -6 परमाणु बमवर्षक
सुरक्षा एजेंसियों की एक रिपोर्ट से खुलासा हुआ कि परमाणु हमला करने में सक्षम है चीनी एच -6 परमाणु बमवर्षक। यह लंबी दूरी पर स्थित टारगेट को निशाना बनाने के लिए डिजाइन किया गया है। इतना ही नहीं यह विमान परमाणु हमला करने में भी सक्षम है, जिसे चीन ने विशेष रूप से अमेरिका के गुआम बेस को निशाना बनाने के लिए शामिल किया है। इसके पिछले मॉडल में मिसाइल की क्षमता सीमित थी, लेकिन अब इसे और भी उन्नत बनाया गया है।

केडी-63 लैंड अटैक क्रूज मिसाइल भी आई नजर
मालूम हो कि चीन ने इससे पहले इस घातक बमवर्षक की तैनाती अक्‍साई चिन के काशगर एयरबेस पर की थी। ओपन सोर्स इंटेलिजेंस एनालिस्ट डेट्रेसफा की ओर से जारी सैटलाइट तस्‍वीर में इसके साथ केडी-63 लैंड अटैक क्रूज मिसाइल भी नजर आ रही है, जिसकी मारक क्षमता करीब 200 किलोमीटर है। इतना ही नहीं एयरबेस पर शियान वाई-20 मालवाहक सैन्‍य विमान भी नजर आ रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

हैदराबाद ने बेंगलुरु को 5 विकेट से हराया, सनराइजर्स छठवीं जीत के साथ टॉप-4 में पहुंची, बेंगलुरु दूसरे नंबर पर बरकरार

 शारजाह : आईपीएल के 52वें मैच में हैदराबाद ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को 5 विकेट से हरा दिया। सनराइजर्स की सीजन में यह छठवीं जीत आगे पढ़ें »

विम्बलडन चैम्पियन हालेप काेरोना संक्रमित

वाशिंगटन : विम्बलडन चैम्पियन सिमोना हालेप ने बताया कि वह कोरोना वायरस जांच में पॉजिटिव आयी है और उनमें इस बीमारी के ‘हलके लक्षण’ है। आगे पढ़ें »

ऊपर