चीन की तानाशाही अपने ही शहर को बनाया जेल

पेइचिंगः चीन ने उइगर मुसलमानों पर कई तरह की पाबंदियां लगा रखी हैं, उत्तर पश्चिम चीन के काशगर शहर में हजारों उइगुर और अन्य मुस्लिम कैम्पों में हिरासत में रह रहे हैं जिसकी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर निंदा हो रही है। काशगर चीन का एक प्राचीन शहर है। इस कैंप में रह रहे उइगर मुसलमान चीन द्वारा बनाए गए इस पिंजड़े में रहने के लिए विवश है। उइगरों के लिए चीन ने एक नियंत्रण जाल बिछा रहा है, जिसे पूरी दूनिया में एक कम्यूनिस्ट पार्टी के स्वचालित तानाशाह के दृष्टिकोण को दिखाता है। काशगर शहर में पड़ोसी गुप्तचर बन गए है, वहीं बच्चों से लगातार पूछताछ चल रही है और मस्जिदों की लगातार निगरानी की जा रही है।

कैदियों से भी जयादा बुरा बर्ताव

एक रिपोर्ट के मुताबिक, काशगर के हालातों का जायजा लेने के लिए कई देशों के पत्रकारों ने यहां कई बार दौर किया ताकि वहां के लोगों की जिदंगी कैसी है, ये पूरी दूनिया को दिखा सकें। लेकिन पत्रकारों का कहना है कि वे स्थानीय लोगों का इंटरव्यू नहीं कर पाए- यह उनके लिए काफी खतरनाक हो सकता था, क्योंकि पुलिस लगातार उनका पीछा कर रही थी। हर जगह प्रतिबंध था। हर 100 यार्ड पर पुलिसकर्मी बंदूकों के साथ चेकपॉइंट्स पर मौजूद थी। उन्होंने बताया कि मुस्लिम अल्पसंख्यकों के चेहरे पर कोई भाव नहीं था, वे अपने आधिकारिक आईडी कार्ड को स्वाइप करने के लिए कतराबद्ध थे। बड़े चेकपॉइंट पर उन्होंने अपना सिर ऊपर उठाया ताकि उनकी तस्वीरें मशीन द्वारा ली जा सकें। उनकी पुष्टि हो जाने के बाद उन्हें जाने दिया गया।

कॉल या मैसेजेस की होती है निगरानी

पुलिस कभी-कभी उइगुरों के फोन ले लेती है यह जांचने के लिए कि उनके फोन में जरूरी सॉफ्टवेयर हैं कि नहीं जिससे उनके कॉल और मेसेज की निगरानी की जाती है। शिंजियांग चीन के सुदूर पश्चिम में मौजूद है लेकिन यह मध्य एशिया का हिस्सा ज्यादा लगता है। उइगुर, कजाख और ताजिक जनसंख्या के मामले में यहां के हैन चाइनीज बहुसंख्यकों से ज्यादा हैं। वे ज्यादातर सुन्नी मुस्लिम हैं जिनकी अपनी संस्कृति और भाषा है।

एक रास्ते पर है 20 कैमरे

उइगुरों के लिए सर्वेलांस कहीं ज्यादा व्यापक है। पड़ोसियों को उनकी निगरानी के लिए छोड़ रखा गया है। निगरानी कर रहे लाखों पुलिस और अधिकारी उइगुरों से कभी भी पूछाताछ कर सकते हैं और उनके घरों की छानबीन कर सकते हैं। सर्वेलांस कैमरा हर तरफ है चाहे वह सड़क हो, दरवाजा, दुकान या मस्जिद। एक रास्ते पर 20 कैमरे मौजूद हैं।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

प्रधानमंत्री मोदी पर आधारित वेब सीरीज पर चुनाव आयोग की रोक

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जुड़ी एक वेब सीरिज 'मोदी जर्नी ऑफ अ कॉमन मैन' पर चुनाव आयोग ने रोक लगा दी है। निर्माताओं को ऑनलाइन कंटेंट हटाने का निर्देश दिया गया है। चुनाव आयोग ने शनिवार को [Read more...]

अब राहुल की नागरिकता पर ही उठे सवाल

लखनऊ: अमेठी से चुनाव लड़ रहे एक निर्दलीय उम्मीदवार ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की नागरिकता पर सवाल उठाए हैं। इस पर राहुल गांधी के वकील ने चुनाव आयोग से जवाब दाखिल करने के लिए समय मांगा। आयोग ने राहुल [Read more...]

मुख्य समाचार

आरबीआई ने रेपो रेट घटाई, लोन सस्ते होने की उम्मीद

मुंबईः भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने रेपो रेट में 0.25% की कटौती की है। यह 6.25% से घटकर 6% हो गई है। मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी (एमपीसी) की बैठक खत्म होने के बाद गुरुवार को ब्याज दरों की घोषणा की गई। [Read more...]

कांग्रेस का पूरा घोषणापत्र हिंदी में पढ़ें

कांग्रेस ने मंगलवार को अपना घोषणापत्र जारी किया जिसमें गरीब परिवारों को 72 हजार रुपये सालाना, 22 लाख सरकारी नौकरियां, महिलाओं को आरक्षण, धारा 370 को न हटने देने और देशद्रोह की धारा हटाने सहित कई वादे किए। यहां क्लिक [Read more...]

फोर्ब्स ने जारी की अरबपतियों की सूचि, जानिए भारत की रैंकिंग

विकास के राह पर चल रहा है भारत, दुनिया के लिए अपार संभावनाएं: सिन्हा

विंग कमांडर अभिनंदन का कश्मीर से किया गया ट्रांसफर, सुरक्षा के मद्देनजर लिया गया फैसला

मतदान केंद्र पर चुनाव अधिकारी को आया हार्ट अटैक, सीआरपीएफ जवान ने सूझबूझ से बचाई जान

एक फोन के बदले गूगल ने क्यों ऑफर किए 10 नए स्मार्टफोन

साध्वी प्रज्ञा सिंह को चुनाव आयोग का नोटिस

कसाब जैसा आतंकी था वैसी ही आतंकी हैं साध्वी प्रज्ञा: प्रकाश आंबेडकर

दिग्विजय सिंह ने कहा- हिन्दुत्व शब्द मेरी डिक्शनरी में नहीं

रहाणे से छीन गई रॉयल्स की अगुवाई

स्पाइसजेट ने जेट एयरवेज के 500 कर्मचारियों को दिया रोजगार

ऊपर