ब्रह्मपुत्र में पानी छोड़ने को लेकर चीन ने अलर्ट जारी किया, असम में बाढ़ का खतरा

Fallback Image

नयी दिल्ली/इटानगर : सीमा और सैन्य स्‍तर पर भारत की चिंताएं बढ़ाने वाला चीन अब पानी के जरिए भारत को मुश्किल में लाने की कोशिश कर रह है। चीन ने एक अलर्ट जारी करते हुए कहा है कि उनके देश में काफी बारिश हो रही है, इसलिए वह जल्द ही ब्रह्मपुत्र नदी में पानी छोड़ सकता है। चीन की इस चेतावनी को देखते हुए असम में डिब्रूगढ़ के अफसरों को जिला मुख्यालय न छोड़ने की हिदायत दी गयी है। अफसरों को कहा गया है कि चीन द्वारा पानी छोड़े जाने पर ब्रह्मपुत्र का जलस्तर बढ़ सकता है जिससे भीषण बाढ़ आ सकती है। अरुणाचल प्रदेश के सांसद निनोंग एरिंग ने भी इस बात की पुष्टि की है कि चीन ने सियांग/ब्रह्मपुत्र नदी के लिए भारत को बाढ़ का अलर्ट जारी किया है।
चीन के इस अलर्ट के बाद केंद्र सरकार ने अरुणाचल प्रदेश को सावधान कर दिया है। ब्रह्मपुत्र चीन की तरफ से होती हुई आती है, चीन में इसे सांग्पो के नाम से जाना जाता है। दावा किया जा रहा है कि नदी में पानी का लेवल 50 साल के सबसे ज्यादा स्तर पर है। यही कारण है कि चीन ब्रह्मपुत्र में पानी छोड़ सकता है। अलर्ट के बाद ब्रह्मपुत्र नदी के आसपास के क्षेत्रों को सावधान रहने को कहा गया है। गौरतलब है कि हाल ही में भारत के जल संसाधन, नदी विकास और गंगा पुनर्जीवन मंत्रालय और चीन के जल संसाधन मंत्रालय के बीच हुए समझौते के तहत यह तय हुआ था कि चीन हर साल बाढ़ के मौसम यानी 15 मई से 15 अक्तूबर के बीच ब्रह्मपुत्र नदी में जल-प्रवाह से जुड़ी सूचनाएं भारत को देगा। बता दें कि चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दूसरी मुलाकात के दौरान चीन ब्रह्मपुत्र नदी के प्रवाह के स्तर से जुड़ी सूचनाएं साझा करने के लिए तैयार हो गया था। पिछले साल डोकलाम विवाद के चलते चीन ने भारत के साथ ब्रह्मपुत्र के प्रवाह से जुड़े आंकड़े साझा करने बंद कर दिए थे।


शेयर करें

मुख्य समाचार

trump

ट्रम्प ने कहा- चीन दुनिया के लिए खतरा है

वाशिंगटन : अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्‍प ने चीन की बढ़ती सैन्य ताकत पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि यह वामपंथी राष्ट्र दुनिया के आगे पढ़ें »

sharad pawar

शरद पवार ने दिया विवादित बयान, कहा पुलवामा जैसी घटना महाराष्ट्र में हवा बदल सकती है

औरंगाबाद : अपने विवादित बयानों के चलते इनदिनों चर्चा में रहने वाले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख ने एकबार फिर ऐसा बयान दिया है जिसपर आगे पढ़ें »

ऊपर