चीनी जंगी जहाजों की मौजूदगी से सिडनी हार्बर में हड़कम्प

कैनबरा : ऑस्ट्रेलिया के सिडनी हार्बर में तीन चीनी जंगी जहाजों की मौजूदगी से वहां हड़कम्प मच गया। एक हालिया रिपोर्ट के में सामने आया था कि विवादित दक्षिण चीन सागर में गश्त लगा रही ऑस्ट्रेलियाई नौसेना का चीनी नौसेना से आमना-सामना हो गया था। ‌रिपोर्ट में यह भी सामने आया था कि इस दौरान ऑस्ट्रलियाई पायलटों को लेजर के निशाने पर रखा गया था। रिपोर्ट के सामने आने के बाद सोमवार सुबह अचानक 700 नौसैनिकों के साथ तीन चीनी युद्धपोत के सिडनी हार्बर के करीब पहुंचने का पता चलते ही तनाव ‌की स्थि‌ति पैदा हो गई। मामले की गंभीरता को देखते हुए प्रधानमंत्री को बयान जारी करना पड़ा।
प्रधानमंत्री ने बयान जारी किया
आईलैंड के दौरे पर गए प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन सोलोमन को जैसे ही चीनी जंगी जहाजों के सिडनी हार्बर पहुंचने और वहां पैदा हुए तनाव की जानकारी मिली उन्होंने तत्काल मामले की गंभीरता देखते हुए बयान जारी किया। उन्होंने अपने बयान में कहा कि यह आम लोगों के लिए चौंकाने वाली बात हो सकती है, लेकिन सरकार को इस बारे में पता था। मॉरिसन ने कहा कि हाल ही में ऑस्ट्रेलियाई पोत चीन गए थे। ऐसे में यह चीन का पारस्परिक दौरा था। उसके युद्धपोत मध्यपूर्व (मिडिल ईस्ट) से ड्रग ट्रैफिकिंग ऑपरेशन के बाद लौटे थे।
एंटी सबमरीन मिसाइल सिस्टम से लैस
संवाददाताओं के अनुसार, जिन युद्धपोतों को हार्बर में देखा गया उनमें एक युझाओ क्लास का लैंडिंग शिप, एक लुओमा क्लास का शिप और एक एंटी सबमरीन मिसाइल सिस्टम से लैस शुचांग क्लास का आधुनिक जहाज भी शामिल है।
पहली बार भेजा गया तीन युद्धपोत
विशेषज्ञ इन तीनों युद्धपोतों के ऑस्ट्रेलिया दौरे के समय पर सवाल उठा रहे हैं। ऑस्ट्रेलियाई नेशनल यूनिवर्सिटी के सिक्योरिटी कॉलेज के हेड रोरी मेडकाफ का कहना है कि आमतौर पर चीन अब तक यहां सिर्फ एक युद्धपोत ही भेजता रहा है। लेकिन 700 नौसैनिकों की टास्क फोर्स को तीन युद्धपोतों में भेजने का मामला पहली बार सामने आया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

hongkong

हांगकांग ‘लोकतंत्र अधिनियम’ पारित, चीन ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

वाशिंगटन : हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों की मांग वाले एक विधेयक को अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने मंगलवार को पारित कर दिया, जिसका उद्देश्य उस आगे पढ़ें »

रतन टाटा खुद को मानते हैं ‘एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक’, कई बड़ी कंपनियों में है हिस्सेदारी

नई दिल्ली : उद्योगपति और टाटा समूह के चेयरमैन रतन टाटा ने खुद को 'एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक' माना है। उन्होंने दर्जनभर से ज्यादा स्टार्टअप कंपनियों आगे पढ़ें »

court

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने 40 दिन की सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रखा

ayodhya

अयोध्या मामला : मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कहा, शीर्ष न्यायालय के फैसले को स्वीकार किया जाना चाहिए

अमेरिकी प्रतिबंधों के पालन के लिए भारत अपना नुकसान नहीं करेगा: वित्त मंत्री

russia

तुर्की और सीरिया की लड़ाई में रूस बना दीवार, तैनात की अपनी आर्मी

sitaraman

अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद ‘मानवाधिकार’ विश्व स्तर पर ज्वलंत शब्द बन गया : सीतारमण

chetak

बजाज ने पेश किया इलेक्ट्रिक चेतक स्कूटर, सामने आया पहला लुक

rail

रेलवे ने शुरू की नई योजना, अब फिल्म प्रमोशन के लिए हो सकेगी ट्रेनों की बुकिंग

modi

पीएम मोदी बोले- राष्ट्र निर्माण का आधार है सावरकर के संस्कार

ऊपर