घरेलू हिंसा को लेकर फ्रांस में प्रदर्शन,सड़कों पर उतरे सैकड़ो लोग

पेरिसः मध्य फ्रांस में महिलाओं के प्रति हो रही घरेलू हिंसा के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में शनिवार को सैकड़ों लोग सड़क पर उतरे। फ्रांस में पिछले 6 महीनों में घेरलू हिंसा जैसी घटनाओ में 74 महिलाओं की जान जा चुकी है। प्रदर्शनकारियों ने इस दौरान 74 सेकेंड का मौन रखकर पीड़ितों को श्रद्धांजलि अर्पित की। उनकी मांग थी कि घरेलू हिंसा में शामिल अपराधियों को कड़ी सजा दी जाए।

जमकर की नारेबाजी

विरोध प्रदर्शन करने के लिए लोग फ्रांस के डी ला रिपब्लिक स्क्वॉयर पर एकत्र हुए। महिलाओं और पुरुषों ने एक साथ जमकर नारेबाजी करते हुए अपने विरोध्‍ा स्वर को बढ़ाया। उन्होंने ‘घरेलू हिंसा बंद करो’ और ‘पृथ्वी पर महिलाओं का जिंदा रहना जरूरी है’ जैसे नारे लगाए। इस प्रदर्शन में ऐसे भी कई एनजीओ शामिल हुए जो महिला अधिकार के लिए काम करते हैं। गृह मंत्रालय द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक पिछले हफ्ते में चार महिलाएं घरेलू हिंसा का शिकार हो गई। साल 2017 में 130 और 2016 में 123 महिलाओं को अपनी जान गंवानी पड़ी।

परामर्श मसौदा तैयार करेगी सरकार

घरेलू हिंसा के संबंध में फ्रांसीसी अभिनेत्री और पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद की पार्टनर जूली गेएट ने कहा, ‘‘यह एक नरसंहार है। आज जो कुछ हो रहा है उसे लेकर हमें जागरुकता फैलाने की जरूरत है। हम तरक्की तो कर रहे हैं, लेकिन महिलाओं की हत्या के कारण समाज काफी पीछे जा रहा है।’’ गेएट ने बताया कि इस मुद्दे की गंभीरता को देखते हुए अब सरकार सितंबर से घरेलू हिंसा को लेकर एक व्यापक परामर्श मसौदे पर काम शुरू करेगी। इस प्रक्रिया में गृह और न्याय मंत्रियों, हित समूहों और एनजीओ को शामिल किया जाएगा। जेंडर इक्विलिटी मिनिस्टर मार्लिन शियाप्पा ने कहा कि ऐसा कोई देश नहीं, जहां महिलाओं पर अत्याचार नहीं होते हैं। लेकिन इस मामले में सबको एकजुट होकर हिंसा को खत्म करना होगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

करीमपुर उपचुनाव से होगा बंगाल विधानसभा के विजय का आगाज : विजयवर्गीय

नदियाः नदिया के करीमपुर विधानसभा उपचुनाव से बंगाल विधानसभा पर विजय का आगाज होगा, शनिवार शाम करीमपुर के महिषबथान में गांधी संकल्प यात्रा को केंद्र आगे पढ़ें »

बीजीबी की फायरिंग में बीएसएफ जवान की मौत की घटना दुर्भाग्यजनक : शुभेन्दु अधिकारी

मुर्शिदाबाद : मुर्शिदाबाद के जलंगी में बीजीबी की फायरिंग में बीएसएफ जवान की मौत की घटना दुर्भाग्यजनक। परिवहन मंत्री और तृणमूल के जिला पर्यवेक्षक शुभेन्दु आगे पढ़ें »

ऊपर