खून-पसीने से मापा जा सकेगा तनाव का स्तरः अध्ययन

वाशिंगटनः वैज्ञानिकों ने अध्ययन किया है। इसमें नयी जांच विकसित की है जो पसीना, खून, मूत्र या लार के जरिए सामान्य तनाव को आसानी से माप सकती है। तनाव को अक्सर ‘साइलेंट किलर’ कहा जाता है क्योंकि इसका असर हृदय रोग से लेकर मानसिक स्वास्थ्य तक पर पड़ता है। अमेरिका के सिनसिनाटी यूनिवर्सिटी के शोधार्थियों को उम्मीद है कि नयी जांच के जरिए रोगी घर पर ही इस उपकरण का इस्तेमाल कर सकेंगे। विश्वविद्यालय के प्रोफेसेर एंड्रीयू स्टेकल ने कहा, ‘‘हालांकि यह आपको सभी सूचना नहीं देगा लेकिन आपको बताएगा कि क्या आपको किसी डॉक्टर की जरूरत है।’’
ऐसे काम करेगा
दरअसल, वैज्ञानिकों ने एक ऐसा उपकरण विकसित किया है जो खून, पसीना, मूत्र या लार में मौजूद तनाव को हार्मोन की पराबैंगनी किरणों के जरिए माप करेगा। हालांकि, अमेरिकन केमिकल सोसाइटी सेंसर जर्नल में इस उपकरण के बारे में बताया गया है कि यह लैबोरेट्री में होने वाली रक्त जांच की जगह नहीं लेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

माता पिता के साथ हुए नस्ली भेदभाव की बात करते रो पड़े होल्डिंग

साउथम्पटन : वेस्टइंडीज के अपने जमाने के दिग्गज गेंदबाज माइकल होल्डिंग नस्लवाद पर दमदार भाषण देने के एक दिन बाद सीधे प्रसारण के दौरान अपने आगे पढ़ें »

शाहरुख ने मुझे गंभीर जैसी आजादी नहीं दी : गांगुली

नयी दिल्‍ली : मौजूदा बीसीसीआई अध्यक्ष और टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के को-ओनर शाहरुख खान को लेकर आगे पढ़ें »

ऊपर