खाड़ी में बढ़ा तनाव, सऊदी अरब के दो तेल टैंकरों पर हमला

फुजैरा : अरब अमीरात के तटीय क्षेत्र में वाणिज्यिक एवं असैन्य जहाजों को निशाना बनाए जाने की खबर है। सऊदी अरब ने सोमवार को कहा कि खाड़ी में रहस्यमय हमले में उसके दो तेल टैंकरों को काफी नुकसान पहुंचा है। साथ ही उसने इस घटना को अंतरराष्ट्रीय और क्षेत्रीय शांति के लिये खतरनाक बताया है। क्षेत्र में पहले ही अमेरिका और ईरान के बीच तनाव बढ़ा हुआ है।
चार वाणिज्यिक पोतों को निशाना बनाया गया
सऊदी अरब ने संयुक्त अरब अमीरात के तटीय क्षेत्र में वाणिज्यिक एवं असैन्य जहाजों को निशाना बनाए जाने की निंदा की है। संयुक्त अरब अमीरात ने रविवार को कहा कि अमीरात तट पर तोड़फोड़ की कार्रवाई में विभिन्न देशों के चार वाणिज्यिक पोतों को निशाना बनाया गया। सूत्र ने कहा, ‘‘यह आपराधिक कृत्य समुद्री नौवहन की सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा उत्पन्न करता है और क्षेत्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय शांति तथा सुरक्षा पर विपरीत असर डालता है।’’
विदेशी पक्षों के दुस्साहस को लेकर आगाह किया
सऊदी अरब के ऊर्जा मंत्री खालिद अल-फालिह ने कहा कि दोनों टैंकरों को काफी नुकसान पहुंचा है लेकिन कोई हताहत नहीं हुआ या ना ही तेल गिरा। हालांकि इस हमले की प्रकृति के बारे में ना तो सऊदी अरब और ना ही संयुक्त अरब अमीरात ने जानकारी दी है। वहीं तेहरान ने हमलों को चिंताजनक बताते हुए जांच का आह्वान किया है और समुद्री सुरक्षा को बाधित करने के लिए विदेशी पक्षों के दुस्साहस को लेकर आगाह किया है। ईरान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अब्बास मौसावी ने घटना और इसके संभावित नतीजों पर चिंता जताई। मौसावी ने एक बयान में कहा, ‘‘ओमान सागर में घटनाएं चिंताजनक और खेदजनक हैं।’’
ईरान को परमाणु सशस्त्रीकरण की राह पर नहीं भेजें
ब्रिटेन ने अमेरिका और ईरान के बीच तनाव बढ़ने पर खाड़ी में अकस्मात रूप से संघर्ष पैदा होने के खतरे को लेकर सख्त चेतावनी दी है। ब्रिटेन के विदेश मंत्री जेरेमी हंट ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि हमें शांति की जरूरत है, यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि हर कोई समझे कि दूसरा पक्ष क्या सोच रहा है और सबसे ज्यादा हमें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि हम ईरान को फिर से परमाणु सशस्त्रीकरण की राह पर नहीं भेजें क्योंकि अगर ईरान परमाणु शक्ति बनेगा तो उसके पड़ोसी भी परमाणु शक्ति बनना चाहेंगे।’’

बता दें कि यह हमला ऐसे समय में हुआ है जब अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने मॉस्को की निर्धारित यात्रा रद्द कर दी है। अब वह ईरान पर यूरोपीय संघ के अधिकारियों के साथ वार्ता के लिए ब्रसेल्स जाएंगे।

गौरतलब है कि ईरान की ओर से उत्पन्न कथित खतरे का मुकाबला करने के लिए फारस की खाड़ी में अमेरिका एक विमानवाहक पोत और बी-2 बमवर्षक विमानों की तैनाती कर रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 12 नये मामले आए सामने

सन्मार्ग संवाददाता, कोलकाता : बंगाल में कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। पिछले 24 घंटों में कोरोना के 12 नये मामले सामने आये आगे पढ़ें »

हावड़ा अस्पताल सील, 2 बड़े डॉक्टरों सहित 3 पॉजिटिव मिले

सन्मार्ग संवाददाता, हावड़ा : हावड़ा जिला अस्पताल के 2 वरिष्ठ अधिकारी व डॉक्टरों सहित 3 लोगों में गुरुवार को कोरोना पॉजिटिव पाया गया। उन्हें एम.आर आगे पढ़ें »

ऊपर