खस्ताहाल अर्थव्यवस्‍थाः बर्बादी के कगार पर पहुंचा पाकिस्तान, अब उसके पास बचे सिर्फ 6 हफ्ते

कराचीः पाकिस्तान की अर्थव्यवस्‍था बहुत ही खराब दौर से गुजर रही है, लेकिन अब उसके पास केवल 6 हफ्ते का समय बचा है। अगर उसे इस अवधि के दौरान 12 अरब डॉलर का लोन नहीं मिला तो उसकी अर्थव्यवस्‍था चौपट हो जाएगी। यह बात किसी और ने नहीं, बल्कि इमरान की होने वाली कैबिनेट में वित्त मंत्री के दावेदार असद उमर ने कही है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार ने देश को गंभीर आर्थिक संकट के मझधार में छोड़ दिया है।
पाकिस्तानी कंपनी एंग्रो कॉरपोरेशन के पूर्व प्रमुख रहे असद उमर ने कहा कि देश में 10 से 12 अरब डॉलर की गंभीर वित्तीय कमी है। असद उमर ने कहा कि सिर्फ इतना ही नहीं, देश चूंकि बिल्कुल ‘कगार पर खड़ा’ है, इसलिए नई सरकार को इसे संभालने के लिए कुछ अतिरिक्त रकम की भी जरूरत होगी।

दोस्तों व आईएमएफ से कर्ज मांगेगा पाक

उमर ने कहा कि पाकिस्तान को अगले छह हफ्तों के भीतर ही कई निर्णय लेने होंगे। इसमें जितनी ही देर होगी, कठिनाई उतनी ही बढ़ जाएगी। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान मदद के लिए आईएमएफ, दोस्त देशों से बात करेगा। इसके अलावा डायस्पोरा बॉन्ड भी जारी किए जाएंगे। गौरतलब है कि इमरान खान पाकिस्तान के पीएम बनने की तैयारी तो कर रहे हैं, लेकिन वहां की खस्ताहाल अर्थव्यवस्था उनके लिए सबसे बड़ी चुनौती है। कई निवेशकों और जानकारों को लगता है कि अगर चीन और आईएमएफ ने राहत पैकेज नहीं दिया तो पाकिस्तान को संभालना मुश्किल होगा।

सभी समझौतों को सार्वजनिक कर सकता है पाक
असद ने जनता से यह भी वायदा किया कि इमरान खान की सरकार बनने के बाद चीन से पाकिस्तान से होने वाले सभी समझौतों को सार्वजनिक कर दिया जाएगा। असल में चीन के वन बेल्ट वन रोड में पाकिस्तान को मिलने वाले लोन की शर्तों को लेकर पिछली सरकार की काफी आलोचना हुई है।
गौरतलब है कि 1980 के दशक से अब तक आईएमएफ पाकिस्तान को 12 बार आर्थिक कार्यक्रमों के द्वारा मदद कर चुका है। पिछली बार ही आईएमएफ ने करीब 6.6 अरब डॉलर का राहत पैकेज दिया था और लगभग इतना ही कर्ज चीन भी दे चुका है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

uno

भारत के नागरिकता विधेयक पर टिप्पणी से संयुक्त राष्ट्र ने किया इनकार, कहा- हम प्रतिक्रिया नहीं देंगे

न्यूयॉर्क : संयुक्त राष्ट्र ने मंगलवार को भारत के नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 को लेकर कोई भी टिप्‍पणी करने से इनकार कर दिया है। संयुक्त आगे पढ़ें »

rat

तीन साल में रेलवे ने 1.52 करोड़ रु. खर्च कर मारे 5,457 चूहे

मुंबई : पश्चिमी रेलवे ने पेस्ट कंट्रोल (चूहा मारने की दवा) का छिड़काव करने के लिए तीन वर्ष में 1.52 करोड़ रुपये खर्च किए। यह आगे पढ़ें »

फोर्टिस हॉस्पिटल के चिकित्सकों ने 24 घंटे के नवजात की कार्डियक सर्जरी की

tmc

भाजपा के आक्रामक हिंदुत्व एजेंडे के खिलाफ राज्य में बंगाल हस्तियों की प्रतिमा लगाएगी तृणमूल

america

अमेरिका के न्यूजर्सी में हुई गोलीबारी, पुलिस समेत 6 लोगों की मौत

kovind

12 साल बाद दोस्त को देखकर प्रोटोकॉल भूले राष्ट्रपति कोविंद, मंच पर बुलाकर लगाया गले

dead

निर्भया मामले में अपराधियों को तिहाड़ जेल नंबर-3 में दी जाएगी फांसी, तैयारियां शुरू

सरकारी कंपनियों के रणनीतिक विनिवेश में ढिलाई पर कैग ने किए सवाल

modi

धार्मिक प्रताड़ना झेल रहे लोगों के हित में है विधेयक, विपक्ष बोल रहा पाकिस्तान की भाषा- मोदी

aamu

एएमयू में नागरिकता बिल के विरोध में लगे हिंदुत्व मुर्दाबाद के नारे, 720 पर केस दर्ज

ऊपर