कोरोना से लड़ाई में भारतीय मूल के डॉक्टरों का योगदान के लिए आभार : ट्रंप

वाशिंगटन : अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारतीय-अमेरिकियों समेत सभी डॉक्टरों, नर्सों और स्वास्थ्य देखभाल पेशेवरों का शुक्रिया अदा किया है जिन्होंने कोरोना वायरस वैश्विक महामारी से लड़ने में नि:स्वार्थ भाव से विशेष प्रयास किया। व्हाइट हाउस की सहायक प्रेस सचिव कैरोलिन लीविट ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई में 1,00,000 से अधिक भारतीय-अमेरिकी डॉक्टरों ने योगदान दिया और राष्ट्रपति ने उनके अथक, जीवन रक्षक काम के लिए उनका आभार जताया है। यह पहली बार है कि जब व्हाइट हाउस ने भारतीय-अमेरिकी डॉक्टरों, नर्सों और स्वास्थ्य देखभाल पेशेवरों के नि:स्वार्थ योगदान को पहचाना है।
नि:स्वार्थ भाव से विशेष प्रयास किया
लीविट ने कहा, ‘राष्ट्रपति ट्रंप उन सभी डॉक्टरों, नर्सों और स्वास्थ्य देखभाल पेशेवरों के आभारी हैं जिन्होंने कोरोना वायरस वैश्विक महामारी से अग्रिम मोर्चे पर लड़ने के लिए नि:स्वार्थ भाव से विशेष प्रयास किया।’
अमेरिका में संक्रमितों की संख्या 26 लाख के पार
अमेरिका के जॉन्स हॉप्किन्स कोरोना वायरस रिसोर्स सेंटर के अनुसार, इस वैश्विक महामारी ने दुनियाभर में एक करोड़ से अधिक लोगों को अपनी चपेट में ले लिया और इससे 5,16,000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। अमेरिका इस बीमारी से सबसे अधिक प्रभावित है। वहां संक्रमितों की संख्या 26 लाख से अधिक है और 1,28,000 से अधिक लोग जान गंवा चुके हैं। प्रतिष्ठित भारतीय-अमेरिकी डॉक्टरों ने उनकी कोशिशों को महत्व देने के लिए ट्रंप के प्रति आभार व्यक्त किया है।
डॉक्टरों के योगदान और उपलब्धियों पर गर्व
अमेरिकन एसोसिएशन ऑफ फीजीशियंस ऑफ इंडिया-ओरिजिन (एएपीआई) के न्यूयॉर्क चैप्टर के अध्यक्ष डॉ राज भयानी ने कहा, ‘हम अपने जीवन के सबसे अभूतपूर्व संकटों में से एक से गुजर रहे हैं। राष्ट्रपति ट्रंप के नेतृत्व ने देश का आर्थिक नुकसान कम करने में मदद की है।’ गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिए एएपीआई सम्मेलन में हाल ही में अपने पहले संबोधन में कहा कि उन्हें कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में भारतीय मूल के डॉक्टरों के योगदान और उपलब्धियों पर गर्व है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोविड-19 वायरस के प्रभावी लक्षण दिखन में लगते हैं आठ दिन : वैज्ञानिक

नयी दिल्ली : बड़ी संख्या में कोविड-19 के मरीजों से प्राप्त सैंपल्स की जांच तथा नये अध्ययनों और उनके विश्लेषण करने के उपरांत वैज्ञानिक इस आगे पढ़ें »

कोल इंडिया ने उत्पादन लक्ष्य घटाकर किया 65-66 करोड़ टन

कोलकाता : सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल) ने कोविड-19 महामारी की वजह से पैदा हुई अड़चनों के मद्देनजर चालू वित्त वर्ष 2020-21 आगे पढ़ें »

पश्चिम बंगाल की 20 अरब डॉलर आकार की लॉजिस्टिक्स क्षेत्र की नीति तैयार, जल्द उद्योग के लिये जाएंगे विचार : अमित मित्रा

कोरोना काल में आर्थिक परेशानी से घिरी मुंबई में जूनियर टेबल टेनिस खिलाड़ी स्वस्तिका घोष

अब लक्ष्य 2022 विश्व कप है, लेकिन श्रृंखला दर श्रृंखला प्रदर्शन देखूंगी : झूलन गोस्वामी

धोनी आईपीएल में अपनी सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में होंगे: मांजरेकर

घोर लापरवाही, 18 घंटे घर में पड़ा रहा कोरोना संक्रमित का शव

अभिषेक बच्चन की कोविड टेस्ट रिपोर्ट 28 दिन बाद आयी निगेटिव

narvane

किसी भी हालात के लिए तैयार रहें कमांडर : नरवणे

पुरी ने 10-10 लाख रुपए मुआवजे देने का किया ऐलान, राज्य सरकार भी देगी इतना ही मुआवजा

ऊपर