ईरान ने 2015 के परमाणु करार की सीमा तोड़ी

यूरेनियम संवर्धन करार सीमा से ज्यादा 4.5 फीसदी किया
तेहरान/मास्को : ईरान ने सोमवार को 2015 में हुए परमाणु करार में तय सीमा तोड़ दी और यूरेनियम संवर्धन स्तर 4.5 फीसदी के पार पहुंचा दिया। ईरानी परमाणु ऊर्जा संगठन के प्रवक्ता बहरोज कमालवंदी ने यह जानकारी दी। कमालवंदी ने कहा, ‘…इस स्तर की शुद्धता देश के ऊर्जा संयंत्रों की ईंधन जरूरतों को पूरी तरह संतुष्ट करती है।’ ईरान के मुताबिक एक साल का ‘रणनीतिक धैर्य’ अब समाप्त हो रहा है।
60 दिन का समय दिया
इस बीच, ईरान ने 2015 में उसके साथ हुए परमाणु समझौते को बचाए रखने के लिए अंतिम मौके के तौर विश्व शक्तियों को 60 दिन का समय दिया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि सितंबर के बाद इस समझौते को बचाए रखने के लिए ईरान आगे किसी ‘अंतिम समयसीमा’ की पेशकश नहीं करेगा।
इसलिए बढ़ाया संवर्धन
ईरान और छह अन्य विश्व शक्तियों के बीच हुए करार से मई 2018 में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अलग हो गए थे और उसके बाद से इस्लामिक गणराज्य के महत्वपूर्ण तेल और वित्तीय उद्योगों समेत कई क्षेत्रों पर फिर से प्रतिबंध लगा दिये गए थे। ईरान की मांग थी कि परमाणु कार्यक्रम को सीमित रखने के बदले दूसरे पक्ष – फ्रांस, जर्मनी, ब्रिटेन, चीन और रूस – वादे के मुताबिक ईरान के आर्थिक लाभ के लिये कदम उठाएं।
चीन-रूस ने अमेरिका को जिम्मेदार ठहराया
यूरोपीय संघ की प्रवक्ता माजा कोसीजैनसिस ने कहा, ‘हम ईरान से ऐसी सभी गतिविधियों को तत्काल रोकने का अनुरोध करते हैं। यूरेनियम संवर्धन को लेकर हम ईरान द्वारा सप्ताहांत में की गई घोषणा से बेहद चिंतित हैं।’ रूस के प्रवक्ता दमित्री पेस्कोव ने सोमवार को कहा कि करार को बचाने के लिये उनका देश कूटनीतिक दबाव डालेगा। उन्होंने कहा कि ईरान की घोषणा अमेरिका द्वारा इस करार से हटने के ‘परिणामों’ में से एक है। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा, अमेरिका की धौंस जमाने वाली हरकतों से बड़ा वैश्विक संकट पैदा हो गया है और संकट से बचने के लिए सभी पक्षों से अत्यधिक संयम बरतना होगा। अमेरिका परमाणु समझौते से ना सिर्फ बाहर निकला बल्कि उसने एकतरफा पाबंदी भी लगा दी जिससे समझौते का क्रियान्वयन में बाधाएं आईं।
‘बेहतर होगा सतर्क रहे’ ईरान : ट्रंप
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, ‘बेहतर होगा कि ईरान सावधान रहे, क्योंकि आप एक कारण से यूरेनियम संवर्धन बढ़ाएंगे और मैं नहीं बताऊंगा कि वह कारण क्या है। लेकिन यह सही नहीं है। बेहतर होगा वे सावधान रहें।’ विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने कहा था कि परमाणु समझौते के तहत तय की गई सीमा के संभावित उल्लंघन के जवाब में ईरान को और सख्त प्रतिबंधों का सामना करना पड़ेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मौका मिले तो आठवां ओलंपिक खेलना चाहूंगा : पेस

मेलबोर्न : भारत के लीजेंड टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस के दिल में आठवां ओलंपिक खेलने की लालसा बरकरार है और यदि उन्हें मौका मिलता है आगे पढ़ें »

महिला क्रिकेट रैंकिंग : स्मृति मंधाना ने गंवाया पहला स्थान, मिताली की लंबी छलांग

नयी दिल्ली : भारतीय महिला क्रिकेट टीम की दिग्गज सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना आईसीसी की जारी ताजा वनडे रैंकिंग में शीर्ष स्थान गंवाकर दूसरे नंबर आगे पढ़ें »

ऊपर