टमाटर के बाद दूध के लिए तरसा पाकिस्तान, व्यापारियों पर कार्रवाई शुरू की

इस्लामाबादः पाकिस्तान महंगाई की मार झेल रहा है। यहां सब्जियों, पेट्रोल, डीजल आदि चीजों की कीमतें काफी बढ़ गई है। इससे लोगों को अपने दैनिक आवश्यकताओं को पूरा करने में परेशानी उठानी पड़ रही है। लेकिन, अब टमाटर के बाद लोगों के सामने दूध के बढ़े हुए दामों ने परेशानी बढ़ा दी है।
कराची डेयरी फार्मर्स एसोसिएशन ने अचानक से ही दूध के दामों में 23 रुपये की बढ़ोतरी कर दी है। इसके कारण यहां दूध की कीमत 120 रुपये प्रति लीटर हो गई है। वहीं खुदरा बाजार में दूध 100 से 180 रुपये प्रति लीटर की दर से बिक रहा है। भारतीय रुपये की तुलना में पाकिस्तानी रुपये का मूल्य आधा है। मंहगाई से जूझ रही पाकिस्तान की जनता इस समय काफी गुस्से में है। इमरान खान के लिए अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाना सबसे बड़ी चुनौती है। खबरों के अनुसार फार्मर्स एसोसिएशन ने सरकार से कई बार दाम बढ़ाने का अनुरोध किया था। मगर जब सरकार ने उसकी बात नहीं सुनी तो उसने खुद यह फैसला ले लिया।
और खस्ताहाल हुआ पाक की हालत
एसोसिएशन के एक अधिकारी ने बताया कि वह इस मामले में दखल देने के लिए अधिकारियों से मिले थे। मगर उन्होंने कुछ नहीं किया। चारे का दाम चार गुना और ईंधन की कीमतों में भी काफी इजाफा हुआ है। प्रशासन ने एसोसिएशन के फैसले को गलत बताया है। मंहगा दूध बेचने वाले खुदरा विक्रेताओं पर कार्रवाई हुई है। प्रशासन ने दूध के दाम 94 रुपये प्रति लीटर तय किए हैं। बावजूद इसके खुदरा विक्रेता 100 से 180 रुपये प्रति लीटर की कीमत से दूध बेच रहे हैं। इसी कारण प्रशासन ने सभी उपायुक्तों को निर्देश दिए हैं कि मंहगा दूध बेचने वाले विक्रेताओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें। इस मामले में एक दुकानदार की गिरफ्तारी भी हुई है।
उच्चतम दर पर पहुंची महंगाई की रेट
पाकिस्तान में मार्च 2019 के दौरान महंगाई की दर पांच वर्ष के उच्चतम स्तर 9.41 फीसदी पर पहुंच गई है। महंगाई का यह स्तर अप्रैल 2014 के बाद का सर्वाधिक है। उस समय महंगाई 9.2 फीसदी आंकी गई थी। मार्च महीने में ही महंगाई एक माह पहले की तुलना में 1.42 फीसदी बढ़ गई है।
दस लाख लोग बेरोजगार हो सकते हैं
पाकिस्तान में 10 लाख लोग बेरोजगार हो सकते हैं। इसके चलते गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले लोगों की संख्या में 40 लाख की बढ़ोतरी होने की उम्मीद है। पाकिस्तान के पास आयात करने के लिए भी पर्याप्त पैसा नहीं है। पाकिस्तान का विदेशी पूंजी भंडार फिलहाल, 8.5 अरब डॉलर का है। लेकिन, यह दो महीने के आयात के लिए भी काफी नहीं है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने नीतीश से मुलाकात की, राजनीतिक रुख प्रकट किया

पटना: बिहार के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) पद से ऐच्छिक सेवानिवृत्ति (वीआरएस) के बाद राजनीति की ओर कदम बढ़ा रहे गुप्तेश्वर पांडेय ने शनिवार को जनता आगे पढ़ें »

कॉलेज और यूनिवर्सिटी खोलने पर फैसला कल

कोलकाता: पिछले करीब साढ़े 6 महीनों से शिक्षण संस्थान बंद हैं, दोबारा काॅलेज - और यूनिवर्सिटी कब से खुल सकते हैं, इस पर चर्चा के आगे पढ़ें »

ऊपर