आतंकी संगठनों पर पाकिस्तानी कार्रवाई का कोई सबूत नहीं : हुसैन हक्कानी

वॉशिंगटन : अमेरिका में पाकिस्तान के पूर्व राजदूत हुसैन हक्कानी ने एक बड़ा बयान देते हुए कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री का आतंकी संगठनों को किसी भी तरह का समर्थन नहीं देने का हालिया बयान उनकी नीति में बदलाव का नहीं बल्कि एक वैश्विक संस्था की ओर से प्रतिबंधित होने के डर को दिखाता है।

पूर्व दूत हुसैन हक्कानी का कहना है कि खान का बयान आतंकी संगठनों को वित्तीय सहायता पहुंचाने वालों पर नजर रखने वाली संस्था फाइनैंशल ऐक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) की ओर से देश को प्रतिबंधित करने के डर से लिया गया है। आतंकी संगठनों पर कार्रवाई करने के वैश्विक दबाव के बीच खान ने पिछले महीने कहा था कि उनकी सरकार पाकिस्तान की जमीन का इस्तेमाल किसी भी तरह के आतंकी गतिविधि के लिए नहीं होने देगी और ऐसे संगठनों पर कार्रवाई करेगी।

आतंकवाद के खिलाफ पाकिस्तान के व्यवहार में कोई बदलाव नहीं

वह भारत की पहल के बाद जॉर्जटाउन यूनिवर्सिटी की ओर से आयोजित इंडिया आइडियाज कॉन्फ्रेंस में उन्होंने अपने संबोधन में कहा, ‘खास तौर पर अफगानिस्तान और भारत के खिलाफ होने वाले आतंकवाद में पाकिस्तान के व्यवहार में बेहद कम ही बदलाव हुए हैं।’ उन्होंने इस ओर इशारा किया कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले के बाद जैश-ए-मोहम्मद के नेता मसूद अजहर के खिलाफ पाकिस्तान किसी भी तरह की कार्रवाई करने में विफल रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

madhav

राम माधव ने अमेरिका को दी नसीहत, कहा- भारत कोई डंपिंग बाजार नहीं

नई दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के महासचिव राम माधव ने सोमवार को अमेरिका की पूर्व विदेश मंत्री कोंडोलिजा राइस के दिए गए बयान आगे पढ़ें »

P Chidambaram

आईएनएक्स मामले में चिदंबरम को मिली जमानत, फिर भी नहीं हो पाएंगे रिहा

नई दिल्ली : आईएनएक्स मीडिया मामले में मंगलवार को पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस नेता पी चिदंबरम को उच्चतम न्यायालय ने जमानत दे दी है। आगे पढ़ें »

ऊपर