आठ बम धमाकों से दहला श्रीलंका, चर्च और होटलों में हमला, 215 की मौत, 500 जख्मी

कोलंबो: श्रीलंका में ईस्टर के मौके पर रविवार को हुए तीन चर्चों और लग्जरी होटलों में हुए बम धमाकों समेत रविवार को हुए आठ धमाकों में से दो आत्मघाती बम धमाके थे जिनमें 215 लोगों की मौत हो गई जबकि 500 अन्य घायल हो गए। इन धमाकों के साथ ही लिट्टे के साथ खूनी संघर्ष के खत्म होने के बाद एक दशक से जारी शांति भी भंग हो गई। पुलिस प्रवक्ता रूवन गुनासेखरा ने बताया कि द्विपीय राष्ट्र में हुए सबसे खतरनाक हमलों में से एक, ये विस्फोट स्थानीय समयानुसार पौने नौ बजे ईस्टर प्रार्थना सभा के दौरान कोलंबो के सेंट एंथनी चर्च, पश्चिमी तटीय शहर नेगोम्बो के सेंट सेबेस्टियन चर्च और बट्टिकलोवा के एक चर्च में हुए। वहीं अन्य तीन विस्फोट पांच सितारा होटलों – शंगरीला, द सिनामोन ग्रांड और द किंग्सबरी में हुए। अधिकारियों के मुताबिक सिनामोन ग्रांड होटल के रेस्तरां में एक आत्मघाती हमलावर ने विस्फोट कर खुद को उड़ा दिया। श्रीलंका के आर्थिक सुधार एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री हर्षा डी सेल्वा ने बताया कि धमाकों में विदेशी नागरिकों सहित कई लोग हताहत हुए हैं।

11 विदेशी भी मारे गए

पुलिस सूत्रों ने कहा कि इन हमलों में दो चीनी नागरिकों समेत 11 विदेशी भी मारे गए हैं। स्थानीय मीडिया की खबर के मुताबिक धमाकों में घायल हुए लोगों में भारत, पाकिस्तान, अमेरिका, मोरक्को और बांग्लादेश के नागरिक भी बताए जा रहे हैं। कोलंबो नेशनल हॉस्पिटल के प्रवक्ता डॉक्टर समिंदि समराकून ने बताया कि 300 से ज्यादा घायल लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं बट्टिकलोवा अस्पताल के प्रवक्ता डॉक्टर कलानिधि गणेशालिंघम ने बताया कि सेंट माइकल चर्च के 100 से ज्यादा घायल लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

आत्मघाती हमलावर ने खुद को उड़ाया

पुलिस प्रवक्ता रुवन गुनासेकरा ने कहा कि बाद में, राजधानी के दक्षिणी उपनगर में कोलंबो चिड़ियाघर के पास एक शक्तिशाली धमाका हुआ जिसमें दो लोगों की मौत हो गई। चिड़ियाघर के पास हुए धमाके के सिलसिले में एक संदिग्ध को गिरफ्तार किया गया है और उससे पुलिस पूछताछ कर रही है। पुलिस ने बताया कि पुलिस की एक टीम ओरुगोदावट्टा क्षेत्र के एक घर में जब जांच के लिए गई तो वहां मौजूद एक आत्मघाती हमलावर ने खुद को उड़ा लिया। इस विस्फोट में तीन पुलिसकर्मियों की मौत हो गई।

देश में कर्फ्यू

आठवें विस्फोट के तुरंत बाद सरकार ने तत्काल प्रभाव से कर्फ्यू लगा दिया। गुनासेखरा ने बताया कि यह कर्फ्यू अगले नोटिस तक प्रभावी रहेगा। इस हमले की जिम्मेदारी अभी तक किसी समूह ने नहीं ली है। श्रीलंका में पूर्व में लिट्टे (एलटीटीई) ने कई हमले किए हैं। हालांकि 2009 में लिट्टे का खात्मा हो गया।

राष्ट्रपति सिरिसेना ने कहा- घटना से सदमे में हूं

ईस्टर के मौके पर अचानक हुये सिलसिलेवार विस्फोटों में मरने वाले लोगों और घायलों की संख्या में इजाफा होता जा रहा है। इस बीच राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं इस अप्रत्याशित घटना से सदमे में हूं। सुरक्षाबलों को सभी जरूरी कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं।’’
भारतीय उच्चायुक्त ने हेल्पलाइन नम्बर जारी किये

कोलंबो में भारतीय उच्चायुक्त ने ट्वीट किया, ‘‘विस्फोट आज कोलंबो और बट्टिकलोवा में हुए। हम स्थिति लगातार नजर रख रहे हैं। भारतीय नागरिक किसी भी तरह की सहायता, मदद और स्पष्टीकरण के लिए इन नंबरों पर फोन कर सकते हैं- +94777903082, +94112422788, +941124227891’’


प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने बताया- कायराना हमला

प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने इसे ‘कायराना हमला’ बताते हुए कहा कि उनकी सरकार स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए काम कर रही है। उन्होंने ट्वीट किया,‘‘ मैं श्रीलंका के नागरिकों से दुख की इस घड़ी में एकजुट और मजबूत बने रहने की अपील करता हूं। सरकार स्थिति को काबू में करने के लिए तत्काल कदम उठा रही है।’’

धमाकों से जुड़े 7 संदिग्ध हिरासत में

इस बीच श्रीलंका के रक्षा मंत्री ने बम धमाकों से जुड़े 7 संदिग्धों को गिरफ्तार किए जाने की जानकारी दी है। करीब 2.15 करोड़ की आबादी वाले द्वीपीय देश के उप-परिवहन मंत्री ने भी धमाकों में अबतक 207 लोगों के मारे जाने की पुष्टि की है। 

शेयर करें

मुख्य समाचार

आयुर्वेदिक स्प्रे से केएमसी कोरोना के रेड जोन को तब्दील कर रहा है ग्रीन जोन में

केएमसी ने लिया 'वंडर स्प्रे 'का सहारा, राजाबाजार व बेलगछिया में मिली सफलता  सिंकी सिंह, कोलकाता : कोलकाता में कोरोना वायरस का मीटर तेजी से बढ़ आगे पढ़ें »

पीएमओ से बंगाल सरकार को मिला पत्र, 1 जून से शत प्रतिशत कर्मचारी जूट मिलों में करेंगे काम

कोलकाता : पश्चिम बंगाल के एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि राज्य सरकार ने जूट मिलों को एक जून से 100 प्रतिशत कर्मचारियों के आगे पढ़ें »

ऊपर