अमेरिकी युद्धपोत के दक्षिण चीन सागर में पहुंचने पर भड़का चीन

शंघाई : चीन ने अमेरिका पर आरोप लगाया है कि उसके युद्धपोत ने उसकी समुद्री सीमा में बिना अनुमति के प्रवेश किया है। चीन ने यह भी कहा है कि वह अपनी संप्रभुता की रक्षा के लिए सभी आवश्यक कदम उठायेगा। चीन के विदेश मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर कहा कि 17 जनवरी की शाम को अमेरिका का मिसाइल नाशक यूएसएस होपर दक्षिण चीन सागर में होंगयान द्वीप से 12 समुद्री मील के दायरे में आ गया था। दक्षिण चीन सागर में स्थित होंगयान द्वीप पर अधिकार को लेकर चीन और फिलीपींस दोनों ही दावा करते है। यह दक्षिण चीन सागर में एक विवादित भूभाग है। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने कहा कि चीन की नौसेना ने युद्धपोत की पहचान करने के बाद उसे वापस जाने का आदेश दिया।
अमेरिका ने इस क्षेत्र में चीन के द्वीप के निर्माण और सैना की तैनाती को लेकर चीन की आलोचना की है। अमेरिका ने कहा है इनका उपयोग समुद्री यातायात में बाधा पहुंचाने के लिए किया जा सकता है। कांग ने कहा कि चीन ने ‘नौ परिवहन की स्वतंत्रता’ के नाम पर अमेरिका द्वारा उसकी संप्रभुता को नुकसान पहुंचाने के प्रयासों का ‘कड़ा विरोध’ किया है और अमेरिक को ‘गलती सुधारने’ का आग्रह किया है। वहीं चीन के रक्षा मंत्री ने शनिवार को एक अन्य बयान में कहा कि अमेरिका द्वारा क्षेत्र में युद्धपोतों के बार-बार भेजने से क्षेत्र की ‘शांति और स्थिरता’ क्षीण हो रही है और द्विपक्षीय संबंधों को नुकसान पहुंच रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मय बंद्योपाध्याय ने जेल से रिहा होते ही बताया जान को खतरा

कहा राज्य में चल रहा जंगल राज संवाददाताओं से बातचीत के दौरान फूट-फूटकर रोने लगे सन्मार्ग संवाददाता पुरुलिया : सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट किये जाने के कथित आगे पढ़ें »

दीपावली पर ड्रोन से नजर रखेगा पीसीबी ऊंची इमारतों पर

प्रतिबंधित पटाखे जलाने पर आवासन के अध्यक्ष के खिलाफ कार्रवाई वसूला जाएगा 5 हजार से लाख रुपए तक का जुर्माना दोषी पाए जाने पर होगी 5 साल आगे पढ़ें »

ऊपर