अमेरिका ने चीनी, पाकिस्तानी कंपनियों को ‘एन्टिटी सूची’ में किया शामिल

वॉशिंगटन : अमेरिका ने अपने राष्ट्रीय हितों को होने वाले नुकसान की आशंका को देखते हुये पाकिस्तान की एक और चीन की कई कंपनी समेत 12 विदेशी कंपनियों को ‘एन्टिटी’ सूची में शामिल किया है। देश के राष्ट्रीय हित को नुकसान पहुंचाने वाली संवेदनशील प्रौद्योगिकी उन लोगों के हाथों में नहीं पड़े यह सुनिश्चित करने के लिए उसने यह कदम उठाया है।
दुनियाभर में लोगों, कारोबारों और संगठनों को नोटिस
इस संबंध में अमेरिकी वाणिज्य मंत्रालय ने बताया कि अमेरिका ने चीन और हांगकांग स्थित चार कंपनियों, दो अन्य चीनी कंपनियों, एक पाकिस्तानी कंपनी और संयुक्त अरब अमीरात के पांच लोगों को इस सूची में शामिल किया है। अमेरिकी वाणिज्य मंत्री विल्बुर रोस ने कहा, ‘‘ट्रंप प्रशासन अमेरिकी नागरिकों या हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा को नुकसान पहुंचा सकने वाले हर कदम के खिलाफ देश की रक्षा करेगा। हम दुनियाभर में लोगों, कारोबारों और संगठनों को नोटिस दे रहे हैं कि यदि वे जनसंहार करने वाले हथियारों संबंधी ईरान की गतिविधियों और अन्य अवैध योजनाओं को समर्थन देते हैं तो उन्हें जवाबदेह ठहराया जाएगा।’’
अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा को कमजोर करने की अनुमति नहीं दे सकते
वाणिज्य मंत्रालय और उद्योग एवं सुरक्षा ब्यूरो (बीआईएस) द्वारा ‘एन्टिटी सूची’ के अद्यतन के बाद रोस ने कहा, ‘‘इसके अलावा, हम चीन की असैन्य-सैन्य एकीकरण नीति को प्रतिबंधित प्रौद्योगिकी के हस्तांतरण की साजिशों के जरिए अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा को कमजोर करने की अनुमति नहीं दे सकते।’’

गौरतलब है कि बीआईएस ऐसी विदेशी कंपनियों, संगठनों या व्यक्ति को अपनी ‘एन्टिटी सूची’ में शामिल करता है जो अमेरिका की सुरक्षा और विदेश नीति के हितों के विरुद्ध काम करती हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

तमिलनाडु : आईटी सेज डेवलपर के यहां आयकर छापा, 450 करोड़ की अघोषित आय का पता चला

नयी दिल्ली: आयकर विभाग ने तमिलनाडु में एक आईटी सेज डेवलपर, उसके पूर्व निदेशक तथा स्टेनलेस स्टील आपूर्तिकर्ता पर छापेमारी में 450 करोड़ रुपये की आगे पढ़ें »

शाह ने हैदराबाद नगर निगम के चुनाव प्रचार के दौरान रोड शो किया

कहा-इस बार हैदराबाद का मेयर भाजपा से होगा हैदराबाद : केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को ऐतिहासिक चारमीनार के समीप स्थित भाग्यलक्ष्मी मंदिर में आगे पढ़ें »

ऊपर