अमेरिका ने गैर-आपात दूतावास कर्मियों को बगदाद और एरबिल छोड़ने का आदेश दिया

वॉशिंगटन : ईरान से बढ़ते तनाव के बीच अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने बुधवार को अपने सभी गैर-आपात दूतावास कर्मियों को बगदाद में अपना दूतावास और एरबिल में वाणिज्य दूतावास छोड़ने का आदेश दिया है। साथ ही अमेरिका ने ईरान पर क्षेत्र में आसन्न हमलों की योजना बनाने का आरोप लगाते हुए तेहरान पर दबाव बढ़ा दिया है। वहीं वह खाड़ी क्षेत्र में अपनी सेना की उपस्थिति को भी बढ़ा रहा है।
दोनों देशों के बीच बढ़ रहे तनाव को लेकर चिंता व्यक्त की
विदेश मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने बुधवार को कहा कि इराक में बढ़ते खतरे को देखते हुए हमने गैर-आपात दूतावास कर्मियों को वापस बुलाने का निर्णय लिया है। दूसरी ओर, तेहरान के समर्थक रूस ने भी बुधवार को पोम्पिओ के आश्वासन के बावजूद दोनों देशों के बीच बढ़ रहे तनाव को लेकर चिंता व्यक्त की।
तेहरान और वॉशिंगटन के बीच तनाव उत्पन्न हो गया
पोम्पिओ के रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से मुलाकात के एक दिन बाद क्रेमलिन के प्रवक्ता दमित्री पेस्कोव ने कहा, ‘‘हमने अभी तक इस मामले पर लगातार तनाव बढ़ते देखा है।’’ पेस्कोव ने कहा, ‘‘हम ईरानी पक्ष की ओर से उठाए कदमों से दुखी हैं।’’ दरअसल अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के 2015 अंतरराष्ट्रीय ईरान परमाणु समझौते से अमेरिका को हटाने के निर्णय के बाद से ही तेहरान और वॉशिंगटन के बीच तनाव उत्पन्न हो गया है।
अमेरिकी नागरिकों और पश्चिमी कंपनियों के लिए खतरा
अमेरिका के एक यात्रा परामर्श चेतावनी में कहा गया, ‘‘कई आतंकवादी और विद्रोही समूह इराक में सक्रिय हैं और नियमित रूप से इराकी सुरक्षा बलों और नागरिकों पर हमले कर रहे हैं।’’ इसमें कहा गया है कि अमेरिका विरोधी मिलिशिया इराक में अमेरिकी नागरिकों और पश्चिमी कंपनियों के लिए खतरा पैदा कर सकते हैं।

गौरतलब है कि अमेरिका ने प्रदर्शन प्रभावित दक्षिणी इराकी शहर बसरा में अपने वाणिज्य दूतावास को भी बंद कर दिया था। अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने पिछले सप्ताह इराक के साथ संबंधों को और आगे ले जाने के लिए अचानक बगदाद पहुंच सबको चौंका दिया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सोनम वांगचुक के चीनी उत्पादों के बहिष्कार अभियान को व्यापारियों का मिला समर्थन

नई दिल्ली : कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने कहा है कि देश के सात करोड़ व्यापारी लद्दाख के शैक्षिक सुधारक सोनम वांगचुक के आगे पढ़ें »

पूर्व पाक कप्तान हनीफ का दावा, 1983 में हॉकी टीम के सदस्‍य तस्‍करी में लिप्‍त थे 

कराची : पाकिस्तान के पूर्व हॉकी कप्तान हनीफ खान ने आरोप लगाया कि 1983 में हांगकांग से वापस आते समय उनकी टीम के कुछ खिलाड़ियों आगे पढ़ें »

ऊपर