अमेरिका की जासूसी कर रही थी रूस की एक छात्र, हुई गिरफ्तार

नई दिल्लीः अमेरिकी पुलिस ने रूस की एक महिला को जासूसी के आरोपों में गिरफ्तार किया है। मारिया बुटिना पर आरोप है कि उसने अमेरिका में विदेशी एजेंट के तौर पर पंजीकरण नहीं करवाया था और साजिश रचते हुए रूस की एजेंट के तौर पर काम किया।
मारिया बुटिना रूस की नागरिक हैं और वॉशिंगटन डीसी में रह रही थी। मारिया अमेरिका में खुद को छात्र के तौर पर दिखा रही थी और नागरिकों के बंदूक रखने के अधिकारों की वकालत भी करती थी।

अदालत में पेश दस्तावेजों के मुताबिक वह वर्ष 2015 से कम से कम फरवरी 2017 तक रूस के एक उच्चाधिकारी के इशारों पर काम करती रही। उक्त अधिकारी पहले रूस के सांसद थे और बाद में वह रूस के सेंट्रल बैंक में शीर्ष अधिकारी बने।
न्याय विभाग ने कहा कि संबंधित रूसी अधिकारी पर अमेरिकी कोषागार विभाग, ऑफिस ऑफ फॉरेन एसेट्स कंट्रोल ने इस वर्ष अप्रैल में प्रतिबंध लगाया था।
बहुत अंदर तक पहुंच बना लिया था
अदालत में पेश दस्तावेजों में यह बताया गया है कि रूसी अधिकारी और बुटिना ने स्थानीय लोगों और अमेरिकी राजनीति में पैठ रखने वाले संगठनों के साथ संबंध विकसित किए ताकि रूसी सरकार को इसका फायदा मिल सके।
5 साल का जेल हो सकता है
संघीय अधिकारियों ने अदालत में पेश दस्तावेजों में बुटिना की कुछ गतिविधियों का जिक्र भी किया जिससे उसके प्रयास और स्पष्ट हो जाते हैं। इनमें आरोप लगाया गया है कि उसने यह खुलासा नहीं किया कि वह रूस की सरकार की एजेंट है, जबकि कानून के मुताबिक यह आवश्यक होता है। बुटिना को अधिकतम पांच साल कैद की सजा मिल सकती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मय बंद्योपाध्याय ने जेल से रिहा होते ही बताया जान को खतरा

कहा राज्य में चल रहा जंगल राज संवाददाताओं से बातचीत के दौरान फूट-फूटकर रोने लगे सन्मार्ग संवाददाता पुरुलिया : सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट किये जाने के कथित आगे पढ़ें »

दीपावली पर ड्रोन से नजर रखेगा पीसीबी ऊंची इमारतों पर

प्रतिबंधित पटाखे जलाने पर आवासन के अध्यक्ष के खिलाफ कार्रवाई वसूला जाएगा 5 हजार से लाख रुपए तक का जुर्माना दोषी पाए जाने पर होगी 5 साल आगे पढ़ें »

ऊपर