अब ट्रंप ने फलस्तीन को धमकाया

वाशिंगटन : अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस्राइल के साथ शांति समझौते की इच्छा नहीं दिखाने पर फलस्तीन को दी जाने वाली सहायता को रोकने की धमकी दी है। ट्रंप ने ट्वीट करके कहा, हम फलस्तीन को प्रत्येक वर्ष करोड़ों डॉलर देते हैं और बदले में हमें कोई आदर या प्रसंशा नहीं मिलती। वे इस्राइल के साथ लंबित शांति समझौता पर बात तक करने के लिए राजी नहीं है। उन्होंने कहा, हमनें वार्ता के सबसे कठिन हिस्से येरुशलम को बातचीत की मेज से अलग कर दिया, इस्राइल को इसके लिये ज्यादा कीमत चुकानी होगी। लेकिन फलस्तीन के शांति वार्ता के लिए राजी नहीं होने की सूरत में क्यों हम उन्हें भविष्य में इस तरह के भारी भुगतान करें। संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत निक्की हेली ने इससे पहले दिन में कहा था कि यदि फलस्तीन शांति समझौते से इनकार करता रहा तो अमेरिका सहायता में कटौती करेगा। निक्की ने न्यूयॉर्क में संरा मुख्यालय में कहा, मेरा मानना है कि राष्ट्रपति ने मूल रूप से यह कहा है कि जब तक फलस्तीन शांति वार्ता के लिए राजी नहीं हो जाता वह कोई अतिरिक्त धन नहीं देना चाहते या सहायता को रोकना चाहते हैं। फलस्तीन को मिलने वाली अमेरिकी सहायता का मकसद कांग्रेस के हित वाली कम से कम तीन अमेरिकी नीतियों का प्रचार प्रसार करना है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Nitin Gadkari

क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी हो सकता है- नितिन गडकरी

मुंबई : केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने महाराष्ट्र में जारी सियासी घटनाक्रम के बीच बड़ा बयान दिया है। महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव के बाद राष्ट्रपति आगे पढ़ें »

income tax office

सरकार ने 50 फीसद टैक्स कलेक्शन का लक्ष्य पूरा किया, अब तक 6 लाख करोड़ रुपये जुटाए

नई दिल्ली : सरकार ने इस वर्ष टैक्स कलेक्शन का लक्ष्य 13.5 लाख करोड़ रुपये रखा है, जिसका 50 फीसद अब तक पूरा किया जा आगे पढ़ें »

ऊपर