इस कट्टर देश में हुआ पहले ‌हिन्दू मंदिर का शिलान्यास

दुबईः अबू धाबी में शनिवार को पहले हिन्दू मंदिर के शिलान्यास का आयोजन किया गया है। इस आयोजन में हजारों लोगों के शामिल होने की संभावना है। जानकारी के मुताबिक, मंदिर का निर्माण करवा रहे धार्मिक एवं सामजिक संगठन बीएपी और एक स्वामीनारायण संस्‍था के आध्यात्मिक नेता महंत स्वामी महाराज की मौजूदगी में शुरू होगा।

गुलाबी रंग के पत्‍थरों का होगा शुद्धिकरण

मुख्य समारोह में पुजारी गुलाबी रंग के पत्थरों का शुद्धिकरण करेंगे। इनका इस्तेमाल मंदिर निर्माण में होगा। ये सभी पत्थर राजस्थान से लाए गए हैं। इस कार्यक्रम में विदेश एवं अंतरराष्ट्रीय सहयोग मामलों के मंत्री शेख अब्दुल्लाह बिन जायेद अल नाहयान और सहिष्णुता मंत्री शेख नाहयान मुबारक अल नाहयान के साथ दुनियाभर के सामाजिक एवं आध्यात्मिक नेता शामिल होंगे। शेख नाहयान अल मकतूम अंतररराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर स्वामी महाराज और हिंदू पुजारियों के प्रतिनिधिमंडल का स्वागत करेंगे। भारत के कलाकार मंदिर के लिए पत्थरों पर नक्काशी करेंगे। बता दें कि अबू धाबी सरकार ने 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की देश की पहली यात्रा के दौरान संयुक्त अरब अमीरात की राजधानी में मंदिर निर्माण की योजना को मंजूरी दी थी।

प्रधानमंत्री मोदी ने रखी थी 2018 में आधारशीला

शेख अब्दुल्ला बिन जायद अल नाहयान, विदेश मामलों के मंत्री और अंतरराष्टीय सहयोग और शेख नाहन मुबारक अल नाहयान, सहिष्णुता मंत्री, दुनिया भर के सामाजिक और आध्यात्मिक नेताओं के साथ इस अवसर पर शिरकत करेंगे। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फरवरी 2018 में अपने दौरे के वक्त इस मंदिर की आधारशिला रखी थी। हालांकि ये अभी तक साफ नहीं है कि मंदिर का काम कब पूरा होगा, लेकिन इतना तय है कि इसके निर्माण में अभी भी कुछ साल लगेंगे।

दुबई में रहते हैं 26 लाख भारतीय

यूएई में लगभग 26 लाख भारतीय रहते हैं, यानी वहां की आबादी का 30 फीसदी हिस्सा। बताया जा रहा है कि इस मंदिर की फंडिंग निजी तौर पर की जा रही है। मंदिर का निर्माण अबू धाबी के प्रिंस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान द्वारा उपहार में दी गई 55,000 वर्ग मीटर जमीन पर किया गया है। इसके साथ ही यूएई सरकार ने इतनी ही जमीन मंदिर परिसर में पार्किंग सुविधा के निर्माण के लिये दी है।

भारतीय कारीगर करेंगे निर्माण

इसके ढांचे का निर्माण भारतीय कारीगरों ने हाथों से उकेरा है और यूएई में इकट्ठा किया है। ये मंदिर दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर और दूसरा न्यूजर्सी यूएस में निर्माणाधीन एक इमारत के प्रारूप पर आधारित है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

हुगली में हथियारों सहित कुख्यात टोटन समेत 2 गिरफ्तार

कार्बाइन, पिस्तौल व पाइपगन बरामद, टोटन के खिलाफ हत्या के 9 मामले हुगली : चंदननगर कमिश्नरेट की पुलिस ने अत्याधुनिक हथियारों के साथ हुगली जिले के आगे पढ़ें »

बेटी ने पति के साथ मिल कर मां को मार डाला

बेटी के विलासितापूर्ण जीवन के शौक में मां बन गई थी रोड़ा शव को ट्रॉली बैग में छिपाकर ले जाने की कोशिश पर्णश्री क बासुदेवपुर रोड की आगे पढ़ें »

ऊपर